मध्यप्रदेश- ई उपार्जन पंजीयन 2021-22 के तहत धान, ज्वार, बाजरा बेचने हेतु पंजीयन हुए शुरू – एमपी ई उपार्जन 2021 22

ई उपार्जन पंजीयन | e uparjan mp |फसल पंजीयन | ई उपार्जन पंजीयन 2021-22 | विक्रय हेतु पंजीयन कहाँ-कहाँ होगा | धान, ज्वार, बाजरा पंजीयन मे आवश्यक दस्तावेज ?

मध्य प्रदेश के किसानों के लिए खुशखबरी की बात है कि अब नहीं बेचना होगा सस्ती कीमत पर ज्वार, बाजरा, धान |  जो किसान भाई खरीफ की उपज को सरकारी रेट पर बेचना चाहते हैं, उनके लिए सरकार की ओर से पोर्टल  पर पंजीयन शुरू हो गए हैं जल्दी आवेदन कर धान, ज्वार, बाजरा को MSP मे बेच सकते है |

 पंजीयन के लिए सर्वप्रथम किसान को निम्न दस्तावेजों के साथ बनाए गए केंद्रों या ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीयन करवाना होगा – फिर खरीद केंद्रों पर अपनी फसल बेचकर भुगतान पा सकेंगे –

मध्यप्रदेश-ई-उपार्जन-पंजीयन

एमपी खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 मे प्रमुख –

योजना का नाममध्यप्रदेश धान और मोटा अनाज विक्रय पंजीयन
आवेदन की अंतिम तारीख15 सितंबर से 14 अकटुम्बर 2021 तक
आधिकारिक वेबसाइटhttp://mpeuparjan.nic.in/
आवेदन कैसा होगाऑफ़लाइन और ऑनलाइन
लाभार्थी एमपी के किसान
प्रमुख फसलेंधान, ज्वार, बाजरा

ई उपार्जन पंजीयन / विक्रय हेतु पंजीयन कहाँ-कहाँ होगा ?

किसानों को उनकी श्रेणी के हिसाब से पंजीयन करना होगा जिसमे –

  • भु-स्वामी/खाता धारक किसान को – MP-किसान ऐप / किसान समिति / प्रमुख पंजीयन हेतु संचालित केंद्रों/ FPO द्वारा |
  • सिकमीदार और वनाधिकार पट्टाधारी किसान केवल – समिति, महिला एव स्व-सहायता समूह द्वारा संचालित केंद्रों और किसान उत्पादन संघटनों (FPO ) के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कर सकते है |

छिंदवाड़ा मंडी भाव – chhindwara mandi bhav today

मध्यप्रदेश- ई उपार्जन पंजीयन 2021-22

धान, ज्वार, बाजरा पंजीयन मे आवश्यक दस्तावेज ?

  • जो किसान भाई सरकारी खरीद हेतु पहले से पंजीकृत है यानि पहले भी किसी भी फसल को बेची है, उन्हे वापस पंजीयन की जरूरत नहीं है | केवल  वर्तमान विक्रय हेतु अपनी फसल का विवरण देना होगा या संशोधन करा सकते है | 
  • नए किसान भाइयों के लिए यदि समिति मे आवेदन कर रहे है तो आधार कार्ड नंबर , बैंक पासबुक एव मोबाइल नंबर और एक फसल विवरण फार्म भरकर आवेदन कर सकता है |
  • ध्यान दे किसान का बैंक अकाउंट, आधारकार्ड से लिंक होना जरूरी है | क्योंकि भुगतान के समय  सुविधापूर्वक किया जा सके |
  • बटाई किसानों और सिकमी किसानों के लिए – पंजीयन के समय वन पट्टा और सिकमी अनुबंध की कॉपी/प्रति होनी चाहिए | एक कॉपी तहसील कार्यालय मे जमा करनी होगी |

किसानों का इस खरीदी पर क्या लाभ –

समर्थन मूल्य पर धान, ज्वार व बाजरा की खरीदी के लिए पंजीयन शुरू होने से किसान अब अपनी फसल का अच्छा भाव ले सकेंगे क्योंकि खरीफ की फसल को लेकर किसानों के लिए सबसे बड़ी समस्या रहती है कि उन्हें बाजार में फसल का उचित दाम नहीं मिल पा रहा है |

बाहरी बाजार भाव मे ज्वार की बात करें तो 1800 से 2600 रुपये प्रति क्विंटल के आसपास और बाजरे की बात करें तो 1100 से लेकर 1500 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से मिल रहे हैं जो आज के समय और सरकार द्वारा लागू एमएसपी से बहुत ही कम है | किसान को अपनी लागत को जल्दी चुकाने के लिए फसलों को जल्दी बेचना पड़ता है और कम कीमत मिलने से भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है –

सरकार द्वारा तय msp मूल्य इन फसलों का लोकल बाजार की तुलना मे ज्यादा यानि अच्छा है, जिससे किसानों को लाभ होगा |

मध्यप्रदेश- ई उपार्जन पंजीयन 2021-22

धान का न्यूतम समर्थन मूल्य 2021 22 MP-

कृषि मंत्रालय की और से खरीफ फ़सली वर्ष 2021-22 वर्ष मे धान की MSP 1940 रुपये प्रति क्विंटल है |

ज्वार का समर्थन मूल्य 2021 22 MP

ज्वार का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) 2021-22 के लिए 2738 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है |

2021-22 मे बाजरा का न्यूतम समर्थन मूल्य ?

बाजरा की सरकारी खरीद वर्ष 2021-22 के तहत 2250 रुपये प्रति क्विंटल रखी गई है |

नोट – खरीफ की फसलों के अच्छे भाव लेने के लिए खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के तहत धान एवं ज्वार, बाजरा विक्रय हेतु ज्यादा से ज्यादा पंजीयन कराएं |

ये भी पढ़े –

इंदौर मंडी भाव 2021- प्याज, लहसुन, चना, आलू, सोयाबीन, गेहूं, मक्का, डॉलर चना

गेहूं मंडी बाजार की जानकारी- गेहूं का रेट today

सोयाबीन मंडी भाव आज का – soybean bhav today

Leave a Comment