[यूपी गन्ना पेमेंट ] होगा बकाया गन्ना भुगतान, 3500 करोड़ सब्सिडी देने का निर्णय

गन्ना किसानों का बकाया भुगतान | गन्ना भुगतान 2020-21 | गन्ना भुगतान 2019-20 | गन्ना किसानों का भुगतान 2020 2021 | बलरामपुर चीनी मिल गन्ना भुगतान | गन्ना भुगतान कब तक | गन्ने का पेमेंट कैसे देखें | गन्ना भुगतान ऐप

देश में चल रहे किसान आंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने गन्ना किसानों के लिए बड़ा तोहफा दिया है 16 दिसंबर 2020 को हुई कैबिनेट की बैठक में गन्ना भुगतान किसानों को ₹3500 करोड़ रुपये की सब्सिडी देने का फैसला किया है |

पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में किसानों के प्रति कई बड़े फैसले लिए गए इसमें यूपी के गन्ना किसानों के लिए भी बड़ा ऐलान किया गया | केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया है कि कि सरकार किसानो के सीधा खाते में सब्सिडी की राशि जमा की जाएगी |

और साथ ही बताया कि यह सब्सिडी ₹6000 प्रति टन के हिसाब से 60 लाख टन चीनी निर्यात पर दी जाएगी |

गन्ना-भुगतान
गन्ना किसानों का बकाया भुगतान/ गन्ना भुगतान कब तक

सरकार ने बताया है की 18000 करोड़ रुपये की चीनी निर्यात के व्यापार से हुए लाभ से किसानो को यह सब्सिडी दी जाएगी | केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि कैबिनेट के इस बड़े फैसले का सीधा लाभ देश के 5 करोड़ किसानों तथा उनके परिवारों का लाभ मिलने वाला है | साथ ही  गन्ना क्षेत्र में कार्यरत 5 लाख मजदूर भी इससे लाभान्वित होगी |

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2020-21 | जानिए प्रधानमंत्री सिंचाई योजना क्या है

कब तक मिलेगा सब्सिडी का पैसा ?

सरकार ने कुल 3500 करोड रुपए की सब्सिडी देने का निर्णय किया था,  जिसमें जल्द ही गन्ना किसानों का ₹5361  करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया जाएगा और यह राशि किसानों के सीधे खातों में भेजी जाएगी |

गन्ना भुगतान समाचार

ई गन्ना एप क्या है E-Ganna App कैसे डाउनलोड करे गन्ना पर्ची कैलेंडर 2021 कैसे देखें

किसानो का क्या कहना है सरकार के इस फेसले पर 

बता दें कि दरअसल केंद्र सरकार के मुताबिक चीनी के दाम कम होने की वजह से किसान और उद्योग जगत संकट में हैं | इसलिए पिछले कुछ 2 से 3 सालों से गन्ना किसानों का भुगतान बकाया चल रहा है तथा उनको प्रॉपर तरीके से लाभ नहीं मिल रहा है | सरकार के इस फैसले और निर्णय से गन्ना किसानो मे काफी खुशी की लहर है | अब उतरप्रदेश के किसान अपने पिछले गन्ना भुगतान की भी आस जगी है |

गन्ना-भुगतान
गन्ना किसानों का बकाया भुगतान

क्यों है गन्ना किसान संकट में ?

बता दें कि देश में चीनी का उत्पादन 310 लाख टन प्रतिवर्ष होता है जबकि देश में इसका उपभोग अर्थात खपत 260 लाख टन हीं हो पाता है | यह समस्या पिछले 3 से 4 सालों से चल रही है इसे लेकर सरकार तथा चीनी मिले, किसानों को नियमित और समय पर भुगतान करने में असमर्थ है तथा इससे किसानों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है |

बता दे की इस साल सरकार ने 60 लाख टन चीनी का निर्यात करने का फैसला लिया है और निर्यात से आय को किसानों में सब्सिडी के रूप में देने का निर्णय किया है |और यह सब्सिडी किसान के खाते में जाएगी जो इस फैसले की विशेषता है |

उत्तर प्रदेश के सभी किसानों का बनेगा KCC UP kisan credit card 2021

पिछला गन्ना भुगतान कब तक होगा ?

उत्तर प्रदेश का  पिछला गन्ना भुगतान भी इसी फैसले के अंतर्गत लिया गया है | सरकार ने बताया है कि 60 लाख टन चीनी के निर्यात से जो भी आय प्राप्त होगी, जो लगभग 18000 करोड रुपए के आसपास हैं वह भी सीधे किसानों के पिछला गन्ना भुगतान के तहत सीधे खातों में भेजी जाएगी |

UP Ganna Payment 2021 | गन्ना मूल्य भुगतान की जानकारी

गन्ना भुगतान कब तक?

देश में चल रहे किसान आंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने गन्ना किसानों के लिए बड़ा तोहफा दिया है 16 दिसंबर 2020 को हुई कैबिनेट की बैठक में गन्ना भुगतान किसानों को ₹3500 करोड़ रुपये की सब्सिडी देने का फैसला किया है |

गन्ना कितने रुपए कुंतल है?

केंद्र सरकार की और से गन्ना वर्ष 2020-21 के लिये FRP 10 % की रिकवरी के आधार पर 285 रुपये / क्विंटल निर्धारित है |

गन्ने का पेमेंट कैसे देखें?

इसमें किसान भाइयों आपको बताया जाएगा कि यूपी के किसी भी जिले की चीनी मंडियों का भुगतान कैसे चेक करें 
किसान को अपने स्मार्टफोन के क्रोम ब्राउजर में दिए गए लिंक को ओपन करना है- गन्ना मूल्य भुगतान
सबसे पहले वाली साइट पर आपको क्लिक करना मैं आपको इस प्रकार का स्क्रीन नजर आएगा

गन्ने का पेमेंट कब तक आएगा?

सरकार ने बताया है कि 60 लाख टन चीनी के निर्यात से जो भी आय प्राप्त होगी, जो लगभग 18000 करोड रुपए के आसपास हैं वह भी सीधे किसानों के पिछला गन्ना भुगतान के तहत सीधे खातों में भेजी जाएगी |

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!