[ कस्टम हायरिंग सेंटर 2023 ] यहाँ जानिए किसानों को किराये पर मिलेंगे ट्रैक्टर और कृषि यंत्र – Custom Hiring Centre in hindi

Last Updated on December 19, 2022 by krishi sahara

देश के सभी राज्यों को उपलब्ध कराएगी कस्टम हायरिंग सेंटर सुविधा | नमस्कार किसान साथियों केंद्र सरकार की ओर से किसानों के लिए एक और सफल और लाभकारी योजना साबित हो रही है – जिनका नाम कस्टम हायरिंग सेंटर |

इस योजना को छोटे और मध्यम किसान वर्ग को ध्यान में रखते हुए सहकारी समितियों एवं ग्राम पंचायत स्तर पर Custom Hiring Centre से सस्ती दर पर कृषि साधन किराये पर उपलब्ध कराती है| इन कस्टम हायरिंग सेंटरो को कृषि यंत्र और साधन अधिकतम 80% तक की सब्सिडी पर उपलब्ध कराती है, जिनको जरूरत मंद किसान किराये पर अपनी खेती-बाड़ी और बागवानी में उपयोग कर सकता है |

कस्टम-हायरिंग-सेंटर

कस्टम हायरिंग सेंटर क्या है ?

देश में राज्य और केंद्र सरकारे मिलकर इस योजना के तहत किसानों और कस्टम हायरिंग सेंटर को खोलने और विस्तार करने हेतु उच्च सब्सिडी पर ट्रैक्टर सहित अन्य कई कृषि यंत्र उपलब्ध कराती और कराए जा रहे हैं| कृषि क्षेत्र में बढ़ोतरी करने और खेती की लागत को कम करने हेतु किसानों को खेती-बाड़ी और बागवानी के साधन किराये पर दे रही है, जो 80% सब्सिडी के हिसाब से काफी सस्ते पड़ रहे है| शुरूआती लक्ष्यों के अनुसार देश के सभी राज्यों के जिला स्तर पर 1-5 कृषि यंत्र हायरिंग सेंटर खोले जा रहे है |

कस्टम हायरिंग सेंटर सब्सिडी ?

कस्टम हायरिंग सेंटर खोलने पर सरकार देगी 80% सब्सिडी, ऑनलाइन कर सकते है आवेदन – इन केंद्रों पर ट्रैक्टर और दुसरे प्रकार के कृषि यंत्रों की खरीद लागत का 80%, जो अधिकतम 8 लाख रुपए का अनुदान सरकार की और से दिया जाता है| राष्ट्रीय कृषि विस्तार एवं प्रौद्योगिकी मिशन के तहत देश के चयनित KVSS-GSS के जरिये इन हायरिंग केंद्रों की स्थापना की जा रही है |

किसान समितियों को कस्टम हायरिंग सेंटर अनुमति ?

किसान समितियों को Custom Hiring Centre खोलने का इस योजना में प्रावधान है, इसके लिए को-आपरेटिव समिति ही इन सीटू क्राप रेजिडयू मैनेजमेंट स्कीम के तहत 80% अनुदान हेतु आनलाइन आवेदन कर सकते हैं |

Custom-Hiring-Centre-in-hindi

निजी कस्टम सेंटर आवेदन ?

इस स्कीम के चयनित गांवों में आने वाले कोई भी व्यक्ति, किसान समूह, किसान उत्पादक संघटन अपना निजी Custom Hiring Centre खोल सकते है – किसानों को निजी कस्टम हायरिंग सेंटर खोलने के लिए ई-मित्र से ऑनलाइन आवेदन करना होता है| निजी हायरिंग सेंटर में उप निर्देशक, कृषि जिला परिषद कार्यालय द्वारा प्राप्त आवेदनों को रजिस्टर में इंद्राज कर भौतिक सत्यापन कराना जरुरी होता है| इन ऑनलाइन आवेदनक्रतो का चयन और लाभ वरियता क्रम में नियमानुसार हर साल के बजट अनुरूप दिया जाता है |

कस्टम हायरिंग सेंटर मध्य प्रदेश 2023 ?

मध्य प्रदेश सरकार ने इस योजना का फायदा किसान को भरपूर देने का प्रयास किया है, किसान राज्य के जिलेवार कस्टम हायरिंग केन्द्रों की सूची
में से अपना जिला और ब्लोक क्षेत्र का चुनाव करके जरूरत वाला कृषि साधन किराये पर ले सकता है |
custom hiring centres in madhya pradesh list 2023

कस्टम हायरिंग सेंटर उत्तर प्रदेश 2023 ?

सरकार की अधिकारिक वेबसाईट upagriculture पर मंडल की लिस्ट के अनुसार अपना जिला, मंडल चयन करके कस्टम हायरिंग कृषि यंत्र का टोकन निकाल सकते है |

यह भी जरुर पढ़े…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!