[ विश्व डेयरी सम्मेलन का शुभारंभ 2022 ] जानिए दुग्ध उत्पादन से पशुपालकों की कैसे चकमकेगी किस्मत – IDF World Dairy Summit 2022

Last Updated on September 13, 2022 by [email protected]

सभी पशुपालक किसानों के लिए अच्छी खबर हाल ही, मे पीएम मोदी ने किया भारत मे “विश्व डेयरी सम्मेलन” का उद्घाटन | ग्रेटर नोएडा के एक्सपोज सेंटर एंड मार्ट में यह मंगल कार्यक्रम रखा गया, यह कार्यक्रम 12 सितंबर 2022 से 15 सितंबर 2022 तक ( 3 दिनों ) तक चलेगा, जिसमें दुनियाभर के कई देश शामिल होंगे |

जानिए इस सम्मेलन के तहत किस प्रकार से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को लाभ मिलेगा? समिति के मध्यम से किस प्रकार अर्थव्यवस्था में गति होगी? डेयरी सेक्टर में क्या बदलाव आएगा? विश्व डेयरी समिति में पीएम के बोल क्या रहे? इस सभी विषय पर हम चर्चा करेंगे। इसलिए कृपया आप यह लेख अंत तक पूरा पढ़े –

विश्व-डेयरी-सम्मेलन

पिछले कई सालों से केंद्र और राज्य सरकारे किसानों के लिए कई लाभकारी योजनाएं लाती है, जिसका जागरूक किसान भरपूर लाभ उठा रहे है | देश का पशुपालक किसान आज दुग्ध उत्पादन मे अपना महत्वपूर्ण योगदान देकर देश का दुनियाभर मे रोशन किया है |

आईडीएफ वर्ल्ड डेयरी समिट 2022 क्या है ?

आईडीएफसी वर्ड डेयरी समिट 2022 का फुल फॉर्म – International Dairy Federation (अंतराष्ट्रीय डेयरी हितधारक ) इसमें दुनिया के लगभग 50 से भी अधिक देश शामिल हुए है |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 सितंबर 2022 ( सोमवार ) को उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में विश्व डेयरी समिति (International Dairy Federation) का उत्घाटन किया है। विश्व डेयरी सम्मेलन उद्घाटन के दौरान प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कहा है की इस समिति के तहत, देश के करोड़ों किसानों को मजबूती ओर रोजगार की द्रष्टि से लाभ मिलेगा |

वर्ल्ड डेयरी समिति की शुरुआत भारत में 1903 में हुई थी, परंतु इसके ठीक 71 वर्ष बाद 1974 इसकी पहली समिति आई थी, इस बार यह दूसरी समिति है जो की 48 वर्ष बाद आई है |

IDF World Dairy Summit 2022 –

योजना / आयोजन का नाम –वर्ल्ड डेयरी समिट 2022
लाभार्थीदेश के सभी पशुपालक किसान ओर डेयरी क्षेत्र जुड़े हो
मुख्य उद्देश्यदेश में डेयरी का नटवर्क अधिक बढ़ाना, किसान को दुग्ध उत्पादन मे उन्नति की राह दिखाना
उद्घाटनप्रधानमंत्री मोदी जी की अध्यक्षता मे 12 सितंबर 2022
स्थानग्रेटर नोएडा (उत्तर प्रदेश)

डेयरी किसान को कैसे पहुचेगा लाभ ?

ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में जो किसान पशुपालन और दुग्ध व्यवसाय से जुड़े है, उन किसानों को इसका लाभ डायरेक्ट मिलेगा | देश मे जितना ज्यादा डेयरी का नेटवर्क बढ़ेगा उतना अधिक लाभ देश के छोटे किसानों को होगा |

वर्तमान में डेयरी क्षेत्र ही ग्रामीण और कुछ शहरी क्षेत्र की एक बड़ी अर्थव्यवस्था बन गई है, क्योंकि वे पूरी तरह से दुग्ध उत्पादन पर ही निर्भर है |

डेयरी सेक्टर ग्रामीण क्षेत्र की रीड की हड्डी बन गई है क्योंकि ग्रामीण क्षेत्र में कई ऐसे किसान भी होते है, जिनके पास कृषि करने के लिए खेत नही होते है और ऐसे किसान अधिकतर दूसरे के खेत पर काम करते है और साथ ही वह पशुपालन करते है और दूध बेचते है।

IDF-World-Dairy-Summit-in-hindi

भारत मे दुग्ध उत्पादन के आकड़े ?

प्रधानमंत्री ने बताया की वैश्विक दुग्ध उत्पादक में भारत देश का 23 % से ज्यादा योगदान बताया है और 8 करोड़ डेयरी किसान सालाना 210 मिट्रिक टन दूध का उत्पादन करती है।

वर्ष 2014 में भारत में लगभग 146 मिलियन टन दूध का उत्पादन होता था, जो वर्तमान 2022 मे 210 मिलियन टन का आकडा हो गया | इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है, कृषि उत्पादों को केवल सिर्फ अच्छी कीमत ओर बाजार मिलने से 8 वर्ष में भारत देश में 44 प्रतिशत दूध की वृद्धि हुई है |

डेयरी समिट के मुख्य हाईलाइट बिंदु ?

  • डेयरी सेक्टर को बढ़ावा मिलने से कई ग्रामीण ओर शहरी क्षेत्रों को रोजगार मिलेगा, भारतीय अर्थव्यवस्था मे मजबूती बनेगी |
  • वर्ल्ड डेयरी समिति के कार्यक्रम में 800 से ज्यादा देश ओर 50 से ज्यादा अन्य देशों के डेयरी किसान शामिल हुए है।
  • आने वाले समय मे डेयरी व्यवसाय दुनिया में करोड़ों लोगो का आजीविका का प्रमुख साधन बनेगा |
  • केंद्र ओर राज्य सरकारे डेयरी उत्पादको क प्रोत्साहन हेतु कई योजनाओ की शुरुआत करेगी, जिससे दुग्ध व्यवसाय में अधिक तेजी आएगी।
  • देश के गृह मंत्री शाह ने की घोषणा – अगले साल तक देश में 2 लाख नए डेयरी खोले जाएंगे |

विश्व डेयरी सम्मेलन का उद्घाटन कहाँ हुआ ?

विश्व डेयरी सम्मेलन का उद्घाटन 12 सितंबर 2022 को भारत मे, उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में हुआ, उद्घाटन के समय देश के प्रधान मंत्री, कई राज्यो के मुख्यमंत्री, एव केन्द्रीय मण्डल के मंत्री भी मौजूद थे।

विश्व डेयरी शिखर सम्मेलन का लक्ष्य और उद्देश्य?

विश्व डेयरी शिखर सम्मेलन का लक्ष्य है, भारत देश में डेयरी सेक्टर के नेटवर्क को अधिक बढ़ाया जाए | डेयरी क्षेत्र मे छिपी अर्थव्यवस्था को हासिल कर पशुपालन, दुग्ध व्यवसाय को विकास की गति दिलाना उद्देश्यों मे शामिल है |

यह भी जरूर पढ़े…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!