राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल 2022 | E-NAM portal in Hindi

Last Updated on September 23, 2022 by pooja kumawat

राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल | Rashtriy Krishi Bajar Portal | राष्ट्रीय कृषि बाजार क्या है | E-NAM portal in Hindi | ई पोर्टल | ई नाम एप | ई-नाम मंडी | राष्ट्रीय कृषि बाजार स्कीम | e nam | ई पोर्टल योजना | ई से नाम | enam | e nam portal

देश मे कृषि का सफर काफी ज्यादा और सफल रहा है और इसे आगे भी सही बनाए रखने के लिए सरकार एका-एक प्रयास कर रही है | E-NAM portal भारत सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा विकसित प्रोग्राम है जिससे देश मे बढ़ती महगाई को कम और किसानों को उचित फ़सली भाव दिलाने मे काफी मदद करेगा | इससे देश मे राष्ट्रीय स्तर पर इलेक्ट्रॉनिक कृषि बाजार का रूप तैयार हुआ है |

राष्ट्रीय-कृषि-बाजार-पोर्टल | राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल | Rashtriy Krishi Bajar Portal | राष्ट्रीय कृषि बाजार क्या है | E-NAM portal in Hindi | राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) योजना | ई-नाम मंडी | राष्ट्रीय कृषि बाजार स्कीम | राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल | कृषि बाजार में सरकारी हस्तक्षेप | कृषि बाजार के प्रकार | भारत में कृषि बाजार का महत्व | ई-नाम योजना

देशभर की चयनित किसान मंडियों को जोड़ा जाएगा और हर एक गतिविधि ई-नाम पोर्टल से नियंत्रित होंगी | किसान राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल माध्यम से किसान देश मे कही पर भी अपनी फसलों की ऑनलाइन बिकवाली कर सकेंगे |

eNAM का पूरा नामElectronic- National Agricultural Market Portal

राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना के मुख्य बिन्दु ?

योजना / पोर्टल का नाम राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल (E-NAM portal )
उधेश्यकिसानों आय वृद्धि / बाजार पारदर्शिता
सरकारी साइट eNAM
पंजीयन https://www.enam.gov.in/web/
राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) योजना

ये भी पढे –

राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल के मुख्य उधेश्य और फायदे ?

  • किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य दिलाना सरकार का प्रमुख उधेश्य है |
  • राज्यों की मुख्य-मुख्य किसान मंडियों को इस योजना मे लाना है जिससे भारी मात्रा मे किसान उत्पादों को दूसरे शहरों / उपभोग स्तर तक पहुंचाया जा सके |
  • राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल से किसानों को बीचोलियों की ठगी से बचाना है |
  • बड़े शहरों और क्षेत्रो मे बढ़ती प्याज, टमाटर जैसे कृषि उत्पादों के भावों को स्थिर रखा जा सके |
  • भारत में कृषि बाजार का महत्व को बढ़ावा मिलेगा |
  • ई-नाम मंडी योजना से भारतीय कृषि को मिलेगी एक देश, एक बाजार सुविधा |
  • किसान को केवल पंजीयन कराके ई-नाम मंडी मे देश की प्रमुख मंडियों के भाव देखकरकही भी बेच सकता है |
  • इस राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) योजना का सीधा लाभ किसानों और ग्राहकों को मिलेगा | जैसे दिल्ली मे टमाटर 60 रुपये किलो है और मध्यप्रदेश मे 35, तो पोर्टल के माध्यम से किसान को mp मे 42-45 मिल सकेंगे और दिल्ली मे 50-52 मे मिल जाएगा | mp से दिल्ली, उत्पाद को लाने ले जाने का काम मंडी का होगा |

E-NAM portal से किसान अपनी फसल को स्वतंत्र रूप से देश की किसी भी मंडी मे बेच सकता है |

Rashtriy Krishi Bajar Portal कृषि व्यापार मे पूर्ण रूप से पारदर्शिता मिलेगी |

राष्ट्रीय कृषि बाजार स्कीम मे आवश्यक दस्तावेज ?

  • आधार कार्ड (Photo Copy of Aadhar Card)
  • बेंक पास बुक (Photo Copy Bank Passbook)
  • फ़ोटोज़ (Passport Size Photo)
  • मोबाइल नंबर (Mobile Numbar)

E-NAM online registration portal ?

देश के किसान इस योजना मे पंजीयन केवल ऑनलाइन माध्यम से कर सकते है | किसान को CSC केंद्र या ई -नाम मंडी मे जाकर पंजीकर्त होना होगा | किसान स्मार्ट फोन से घर बैठे भी आवेदन, सरकार द्वारा दिए गए जानकारी भरकर सुविधाओ का लाभ ले सकते है |

Rashtriy Krishi Bajar Portal Toll Free Numbar ?

सरकार की इस बहुउधेश्य योजना से किसी भी प्रकार की पूछताछ, संपर्क, या शिकायत के लिए सरकार ने टोल फ्री नंबर लांच कीये है जिस पर किसान निवारण पा सकते है |

राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल हेल्प लाइन नबर -1800 270 0224 (toll free)

ये भी पढे –

आशा करते है राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल के बारे मे आपको काफी जानकारी मिली होगी |

धन्यवाद

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!