मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना 2021-22 की पूरी जानकारी ,आवेदन ,लाभ ,टोल फ्री नंबर-

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना | मृदा स्वास्थ्य कार्ड कैसे बनवाएं | मृदा स्वास्थ्य कार्ड app | मृदा परीक्षण क्यों करना चाहिए | ऑनलाइन आवेदन मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड | हेल्थ कार्ड क्या है | स्वस्थ धरा खेत हरा |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 फरवरी 2015 को राजस्थान के श्री गंगानगर के सूरतगढ़ से शुरुआत की है | मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना की शुरुआत कर मोदी सरकार ने देश के किसानों को नई सोगात दी है | भारत की आदि से ज्यादा आबादी गाँवों मे रहती है और कृषि भारत की अर्थवएवस्था की धुरी है | कृषि भारत की आदि से ज्यादा आबादी को रोजगार उपलब्ध कराती है इसी को लेकर किसान की जमीन का सही उपचार होना बहत जरूरी है |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड
मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना

स्वस्थ धरा ,खेत हरा के तहत भारत सरकार ने देश के किसानों की जमीन की अच्छी सेहत एव जमीन मे पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना की शुरुआत की है | वर्तमान 2021 मे मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है आइए जानते है soil helth card yojana details in hindi जानकारी –

सॉयल हेल्थ कार्ड योजना की विशेषताए –

  • देश के सभी राज्यो के किसानों के लिए है योजना |
  • भारत सरकार 14 करोड़ किसानों को केरेगी शामिल इस योजना मे |
  • किसान की भूमि का पूरी जन्म-कुंडली यानि जमीन की मिट्टी की पूरी जानकारी बस एक कार्ड मै |
  • आधुनिक प्रयोगशालाओ द्वारा प्रत्येक 2 साल मे भूमि की मिट्टी की जाँच |
  • मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना देश मे कुल 21 भाषाओ मे उपलब्ध है |
  • योजना के कार्ड का नमूना (formet) देखे > pdf

किसान के लिए क्यों जरूरी है मृदा स्वास्थ्य कार्ड ?

  • कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय द्वारा किसान को उसकी भूमि की मिट्टी मे शामिल पोषक तत्वों एव जमीन की अच्छी सेहत की पूरी जानकारी हो , मिट्टी की गुणवता अच्छी नहीं होगी तो किसान की फसल पेदावार पर भी काफी असर पड़ेगा |
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड किसानों को उनके खेत की मिट्टी के जरूरी पोषक खुराक के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देता है और भूमि की फसल पेदावार ,स्वास्थ्य एव उत्पादन क्षमता बढ़ाता है |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड मे किन तत्वों की होगी जाँच ?

इस योजना के जरीय भूमि मे फसल की के लिए जरूरी लगभग 10 प्रकार के तत्वों की जाँच जिनमे प्रमुख जिंक ,आयरन ,कॉपर , मैग्नीज आदि रसायन तत्व शामिल है |

भूमि मे तत्वों की कमी का पता कर किसान को उपाय एव संतुलित उर्वरकों और बीज के बारे मे प्रयोग कर भूमि को स्वस्थ रखना है |


मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लाभ soil helth card scheme benifits –

  1. खेतों मे आवश्यक पोषक तत्वों की कमी के अनुसार पूर्ति की सलाह से बेहतर उत्पादन प्राप्त होगा |
  2. राज्य सरकारों द्वारा फ्री मे बाटे जायेगे मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड |
  3. देश के किसान अब उनकी भूमि पर फसलों की उपज से संबधित मिलने वाली असफलताओ को सफलता मे बदल सकेगा |
  4. देश के किसान अब बिना रसायनिक खेती के साथ कम लागत मे फसलों का अधिक उत्पादन लेगा ।
  5. किसानों को अधिक से अधिक प्रशिक्षण, शिविरों और किसान मेलों का भी आयोजन कर जोड़ा जा रहा है |

ये भी पढ़े :-

अब तक मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना मे सरकारी खर्चा ?

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना मे कुल खर्च अब तक – offical govt site

वित्तीय वर्षव्यय राशि
2014-1523.89 करोड़ रुपए
2015-1696.47 करोड़ रुपए
2016-17133.66 करोड़ रुपए
2017-18152.76 करोड़ रुपए
2018-19237.40करोड़ रुपए
2019-20107.24करोड़ रुपए
कुल खर्चा751.42 करोड़ रुपए
मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना 2021

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड के लिए आवेदन केसे करे soil helth card yojana registration online/offline apply ?

देश के सभी राज्यो के किसान मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए अनलाइन या ऑफ़लाइन दोनों तरीकों से कर सकते है आवेदन आप देश की 21 अलग अलग भाषाओ मे कर सकते है –

  • online apply :-आपको सरकारी पोर्टल इस पर क्लिक करना है – http://soilhealth.dac.gov.in | साइड खुलने के बाद मृदा स्वास्थ्य कार्ड sample registretion फॉर्म में चार मुख्य भाग हैं – किसान विवरण, भूमि विवरण, फसल विवरण और उर्वरक विवरण(वर्तमान जोत मे उपयोग ) संबधित जानकारी भरे और सबमिट करे नमूना(मिट्टी का नमूना केसे लेवे नीचे बताया गया है ) लेने के लिए सूचित कर दिया जाएगा |
  • offline apply :-किसान को सबसे पहले अपने खेत से नमूने के लिए मिट्टी लेनी पड़ेगी फिर उसको नजदीकी किसान सेवा केंद्र या जिला मुख्यालय के प्रयोगशाला में ले जाना होगा । जाँच प्रक्रिया पूरी होने पर आपको मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड नंबर दिया जाएगा जो आप ई-मित्र या http://soilhealth.dac.gov.in से निकलवा सकते है |

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना का सरकार द्वारा प्रचार प्रसार के कदम ?

  • सरकार किसानों को योजना का लाभ लेने के लिए किसान मेलों ,प्रदशनी एव शिविर का आयोजन करती रहती है |
  • अगस्त 2020 तक राज्य एव केंद्र सरकारें 7425 मेलों व 8,889 किसान प्रशिक्षण शिविरों का आयोगन कर चुकी है |
  • योजना क देश मे कुल shc ने 5 लाख भूमि मर्दा जाँच प्रदशनियों की मंजूरी दी गई है |
  • “आदर्श ग्राम विकास” भारी मुहिम के जरिए चिहीत 6,954 गाँवों से मिट्टी के नमूने लिए गए जो हर एक हेक्टेयर के अंतराल से थे |

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड के लिए मिट्टी का नमूना कैसे ले ? soil helth card ke liye sempal kese leve ?


नमूना लेने के लिए किसान को अपने खेत मे से बराबर अंतराल से मिट्टी के सेम्पल लेने है जो इस प्रकार –

  • खेत के चारों कोनों मे से 1-1 किलो मिट्टी लेवे |
  • खेत के बीच मे बराबर अंतराल के साथ 2 जगहों से 1-1 किलो मिट्टी के सेंप्पल लेवे |
  • आपके पास कुल 6 किलो मृदा हो जाएगी ,इनको अच्छे तरीके से मिला लें |
  • मिलाने के बाद आपको आधी मिट्टी को बाहर कर देना है और अब आपके पास 3 किलो मिट्टी बचेगी |
  • 3 किलो मे से फिर आपको आधी बाहर करनी है और लगभग 1 किलो आपको सेंप्पल के तौर पर रखनी है |
  • अब आपका नमूना तैयार हो गया है ,इसे कपड़े की थैली या डिब्बे मे भरकर किसान सेवा केंद्र या जिला मुख्यालय की प्रयोगशाला मे ले जाए |
  • सभी किसान भाई अपने खेत को स्वस्थ धरा ,खेत हरा शीर्ष से जोड़े |

ये भी पढ़े :-

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना से संबधित टोल फ्री नंबर yojana toll free number :-

helpdesk-soil@gov.in
टोल फ्री नंबर – 011-24305591,24305948

देश के राज्यों के हेल्प लाइन :- https://soilhealth.dac.gov.in/Home/Contact

निवेदन :- तो आप इस लेख को पढ़कर जान गए होंगे की मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना kya hai, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लाभ आदि के बारे मे | यदि आपको इस योजना के बारे मे कोई जानकारी ,कमी ,या परेशानी हो तो कमेन्ट कर सकते है | अधिक जानकारी के लिए ऊपर दिए गए सरकारी टोल फ्री नंबर पर कॉल कर बात कर सकते है |
जानकारी अच्छी लगी तो हमे fallow करे ,ज्यादा से ज्यादा शेयर करे –
“धन्यवाद”


जय किसान

2 thoughts on “मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना 2021-22 की पूरी जानकारी ,आवेदन ,लाभ ,टोल फ्री नंबर-”

  1. सर हम केसे बनवाए ये मृदा स्वास्थ्य कार्ड मे बिहार से हूँ |
    खाद के बिना हमारे फसल नहीं होती है |
    कृपया बताए –

    Reply

Leave a Comment