[ यूरिया खाद का रेट 2022 Today ] नहीं बढ़ेगी यूरिया की रेट जानिए- यूरिया खाद की ताजा खबर

Last Updated on July 28, 2022 by [email protected]

यूरिया खाद की ताजा खबर | यूरिया खाद रेट 50 Kg | यूरिया खाद का रेट 2022 | इफको खाद रेट 2022 | यूरिया प्राइस इन इंडिया २०२२ | यूरिया खाद की कीमत | यूरिया खाद रेट 45 kg

देश में बढ़ती हुई महंगाई और आसमान छूते हुए पेट्रोल-डीजल के बीच किसानों के लिए बहुत बड़ी राहत की खबर निकल कर आई है | देश की सबसे बड़ी खाद-उर्वरक निर्माता कंपनी IFFCO उर्वरक-खाद के दामों में बढ़ोतरी को लेकर जानकारी दी है कि हाल-फिलाल में यूरिया खाद का दाम नहीं बढ़ेगा और साथ ही यूरिया की किल्लत /कमी को दूर किया जाएगा |

दुनिया की सबसे बड़ी उर्वरक उत्पादक सहकारी संस्था, देश की सबसे बड़ी उर्वरक निर्माता कंपनी ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए IFFCO की ओर से देश मे DAP, NPK, NPS, जैसे उर्वरकों के खुदरा कीमतों मे बढ़ोतरी नहीं करेगा | साथ ही निर्मित उर्वरकों की रेट/भाव भी बताए है – डीएपी खाद की new कीमत 2022

यूरिया-खाद-का-रेट-2022

डीएपी की कीमत 1900 रुपए रहेगी , एनपीके की कीमत 1175 रुपए रहेगी, एनपीके 12-32-16 की कीमत 1185 रुपये रहेगी , साथ ही NPS खाद की कीमत 925 रुपये रहने वाली है यूरिया खाद की एक बोरी / 45 kg की कीमत 266.50 रुपये है जबकि बात दे की उरिया खाद की कीमत 900 रुपये के आस-पास होती है पर किसानो को 70 % की छूट के साथ लगभग यूरिया खाद की पुरानी रेट के अनुसार 250 रुपये मे दी जाती है |

उर्वरक का नामउर्वरक का रेट 2022
DAP ₹1900/-₹1900/-
NPK 10:26:26 ₹1175/-₹1175/-
NPK 12:32:16 ₹1185/-₹1185/-
NPk 20:20:0:13 ₹925/-₹925/-
यूरिया₹266.50
सिंगल सुपर फास्फेट 50 kg425 (पाउडर), 465(दानेदार)
यूरिया खाद की कीमत

यूरिया खाद का रेट 2022 को लेकर की ताजा खबर –

जबकि इससे पहले ही IFFCO के MD ने यह बताया है की हमारी कंपनी ने पीएम नरेंद्र मोदी के 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के अभियान से जुड़ा है | अंतरराष्ट्रीय मार्केट में हमारे को कच्चे माल के बढ़ोतरी के बावजूद भी हम देश में खाद उर्वरकों के दाम में बढ़ोतरी नहीं कर रहे हैं और इनके दामों में बढ़ोतरी नहीं की जाएगी |

IFFCO को का मानना है कि यह सहकारी संस्था हमेशा किसानो की सेवा और उधेशय खेती मे लागत को कम करने के लिए प्रतिबंद है –

यूरिया खाद क्या है ?

जानते हैं यूरिया खाद के बारे में तो यूरिया खाद में केवल और केवल नाइट्रोजन होता है | नाइट्रोजन की कमी से पौधों की पत्तियां पीली पड़ने लगती है तथा पौधों का विकास धीमी गति से होता है | यूरिया खाद पौधों के विकास और पति को हरा रखती है | पौधे की पत्तियां हरी होने से प्रकाश संश्लेषण की क्रिया होने में आसानी होती है | यह खाद सभी प्रकार के पौधों में उपयोग कर सकते हैं लेकिन किसान भाइयों इस खाद का ज्यादा प्रयोग भी नुकसान दाई होता है और पौधे और फसल में गंभीर बीमारियां भी लग सकती है |

यूरिया खाद का प्रयोग करते समय  किसान भाई को ध्यान रखने की जरूरत है कि कब और किस फसल के लिए कौन सी खाद का प्रयोग करें | कभी-कभी ज्यादा खाद का प्रयोग फसल को नुकसान के साथ-साथ खर्चा भी बढ़ा देता है| कौन सी खाद किस फसल और किस समय देना है यह छोटी-छोटी बातो के बारे में जानकारी होनी चाहिए |

2022 के बाद खादो के दाम में बढ़ोतरी हो जाएगी क्या ?

सरकार की ओर से बढ़ोतरी के बारे में कोई भी सूचना नहीं है, लेकिन पिछली बढ़ोतरी मे सरकार किसानों के पक्ष मे कीमतों पर रोक लगाई थी |

यूरिया खाद रेट 50 kg यूरिया क्या है

इफको यूरिया कारखाना / देश मे यूरिया खाद की फैक्ट्री ?

समय के चलते देश में रासायनिक उर्वरकों की खपत लगातार अंधाधुन बढ़ रही है | 2019-20 सत्र  देश में र 336.97 लाख टन यूरिया खाद की बिक्री हो चुकी है जबकि पिछले वर्ष यह आंकड़ा 320.20 लाख टन था |

देश में बढ़ती यूरिया की मांग को देखते हुए IFFCO देश के अलग-अलग हिस्सों में अपने बड़े-बड़े क्षमता के प्लांट लगा रहा है | जिससे किसानों को सही समय पर खाद उर्वरक उपलब्ध हो सके और समय पर खाद मांग की पूर्ति हो सके |

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!