[ सऊदी अरब की खेती 2022 ] जानिए दुबई, रेगिस्तान में ऐसे कर रहा है खेती, सऊदी अरब में खजूर की खेती – farming in saudi arabia

Last Updated on July 19, 2022 by [email protected]

सऊदी अरब में पानी कहां से आता है | सऊदी अरब में खजूर की खेती | सऊदी अरब की खेती | दुबई के रेगिस्तान मे खेती | सऊदी अरब में कृषि इतिहास | सऊदी अरब में किसकी खेती होती है | दुबई रेगिस्तान में ऐसे कर रहा है खेती –

दुनिया में पानी के बिना खेती करना मुमकिन नही है, सऊदी अरब देश बिना पानी के खेती करने जैसी समस्या का सामना कर रहा है | साल 1980-1990 के समय भूमिगत पानी को सिंचाई के रूप में अंधाधुंन काम में लेने के कारण कुछ ही सैलून में पानी ख़त्म हो गया | सऊदी अरब देश एक भी झील और नदी नही है, साल में एक-दो बार बरसात होती है वो भी कम मात्रा में, वर्तमान में पानी के प्राकृतिक स्रोत ख़त्म की कगार पर है | सऊदी अरब देश का 95% क्षेत्र रेत और बालू मिटटी भरा पड़ा है |

सऊदी-अरब-की-खेती

आज के समय दुनिया के कुछ ही देश ऐसे है, जहाँ पानी के स्रोत न के बराबर है, उनमे से एक सऊदी अरब देश भी है | सऊदी अरब में पेट्रो रसायनों की भरमार है, जिससे पैसों के दम पर खेती और पानी की समस्या को सभाले हुए है |

सऊदी अरब की खेती ?

इस देश की सरकार खेती को लेकर लगातार काफी प्रयत्नशील है, सऊदी अरब लगातार अपने रेगिस्तानी क्षेत्र को खेती योग्य बना रहा है | बिना अच्छी बारिश के यहाँ खेती करना बहुत बढ़ा चुनितियो भरा बना हुआ है, क्योकि किसी भी फसल की उपज लेने में मेहनत करनी पड़ती है | सामान्य किसान के लिए खेती करना बहुत बड़ा मुस्किल है, लेकिन आज के समय यहाँ की सरकार ने रेगिस्तानी इलाको में बचे हुए गहरे पानी की खोज कर गहरे-गहरे बोरवेल कराकर वहां उन्होंने क्रॉप फील्ड बना दिए, सर्दियों में सर्वोधिक खेती की जाती है |

माना जाता है की वर्तमान में यहाँ खेती के सभी स्रोत कुछ सालों बाद खत्म होने है, इसलिए सऊदी सरकार ने सयुक्त राज्य अमेरिका, इंडोनेशिया, अर्जेंटीना, साउथ अफ्रीका जैसी कई देशों में बड़े-बड़े पैमाने पर कृषि भूमि खरीद ली है |

सऊदी-अरब-में-कृषि-इतिहास

सऊदी अरब में कृषि इतिहास ?

साल 1990 के समय सऊदी अरब देश पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा गेहूं निर्यात करने वाला देश था | 1990 के आस-पास यहाँ भूमिगत जल का खूब उपयोग हुआ, जिससे जल के प्राकतिक स्रोत धीरे-धीरे कम हो गए, और आज खत्म होने की कगार पर है | हजारो सालों से सऊदी के लोग खेती के लिए कूओ पर निर्भर रहे है, लेकिन कम वर्षा और बढती आबादी के चलते भूमिगत जल का लेवल बहुत ज्यादा हो गई जिसकी भरपाई नही की जा सकती है | वर्तमान में सऊदी की खेती कृषि की महगी टेक्नोलॉजी और साल में होने वाली बरसात के निर्भर है | 

सऊदी अरब में पानी कहां से आता है?

यह देश दुनिया के सबसे ज्यादा लैंड वायरस वाले देशों की सूचि में है | सऊदी समुंद्री जल को प्युरिफाई करने और उसे पिने योग्य बनाकर देश की जनता को नहाने और खाना-पीना बनाने के लिए सप्लाई करता है | सऊदी अरब देश में बाहरी देशो द्वारा भी पिने का पानी सप्लाई किया जाता है | खेती के लिए गहराई में बचा भूमिगत जल की खोज कर बोरवेल करके उनके ऊपर कई मील वाले सेंटर पाइवोट सिचाई तरीको अपनाकर पानी की हर एक बूंद को काम में लेते है |

दुबई के रेगिस्तान मे खेती ?

सरकार द्वारा कृषि तकनीकी का एक सफल प्रोजेक्ट सर्कुलर ग्रीन फिल्ड विकसित किये गए है, जिनमे सेंटर पाइवोट सिचाई तरीको से पानी दिया जाता है |  आज के समय सिंचाई पानी की कमी के होते हुए भी तरह-तरह के फल, ताजी सब्जियां, अनाज, डेयरी प्रोडक्ट का निर्यात करने में आगे है |

यह भी जरुर पढ़े…

टॉप मुनाफेदार बरसात के मौसम में उगाई जाने वाली सब्जियां

देश में कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग क्या है – पूरी जानकारी

पीएम कुसुम सौलर पंप योजना 2022

पॉली हाउस क्या है 2022 – ग्रीन हाउस पर सब्सिडी

किसान पेंशन योजना की सम्पूर्ण जानकारी 2022

सऊदी-अरब-में-पानी-कहां-से-आता-है

सेंटर पाइवोट सिचाई सिस्टम ?

सिंचाई का यह सिस्टम ऐसा है की काफी कम पानी में अधिक से अधिक फसल को सिंचाई पानी की पूर्ति कर सकता है | सिचाई के इस तरीके में खेत के बीचों बीच इस ढांचे को बैठाया जाता है, यह खेत में सीधा पाइपलाइन से जुड़ा हुआ होता है जो पहियों की मदद से पुरे खेत के चारो और घूमता है | घुमने वाले पाइपलाइन सिस्टम में समर्सिबल जैसी मोटर से पानी का प्रेशर दिया जाता है, जिसमे फुआर पानी से एक साथ कम पानी में पुरे खेत की सिंचाई कर दी जाती है | 

सऊदी अरब में कृषि उपज उत्पादन 2018 के आकड़े –

प्रमुख फसलेवर्ष भर के आकड़े / टन में
खजूर1.3 मिलियन टन
तरबूज634 हजार टन
ज्वार144 हजार टन
ककड़ी115 हजार टन
जौ624 हजार टन
गेहूं586 हजार टन
टमाटर312 हजार टन
आलू482 हजार टन

सऊदी अरब में खजूर की खेती ?

सऊदी देश में कृषि आय में खाजुर का सबसे बड़ा योगदान रहा है | साल 2020 में केवल खजूर का निर्यात करके 927 मिलियन रियाल मुद्रा की आय की थी, जो देश के लिए विशेष योगदान रखती है | खजूर गर्म और शुष्क जलवायु में फलने-फूलने वाला पेड़ है जिसका फायदा यह आपदा में अवसर बनता दिखाई दे रहा है |

सऊदी अरब में खजूर की खेती के बढ़ते क्षेत्रफल और वार्षिक उत्पादन, निर्यात के बढ़ते आकड़े आने वाले समय में शीर्ष स्थान बनने की दिशा में है | हर साल सऊदी अरब देश सऊदी अरब – 15 लाख मीट्रिक टन खजूर का उत्पादन होता है |

सऊदी-अरब-में-किसकी-खेती-होती-है

सऊदी अरब की खेती में प्रमुख फसलें ?

सऊदी अरब में कृषि दुनिया भर के बाजारों में खजूर, डेयरी उत्पाद, अंडे, मछली, मुर्गी पालन, फल, सब्जियां और फूलों, जौ, गेहूं, ज्वार के उत्पादन और निर्यात में अपना स्थान रखता है, क्योंकि इसने ऐसे कृषि उत्पादों के उत्पादन में आत्मनिर्भरता हासिल की है |

सऊदी अरब के रेगिस्तान में हर साल सर्दियों में बारिश होती है, लेकिन देश के दक्षिणी क्षेत्र को छोड़कर औसतन अधिकतम 100 mm प्रति वर्ष बारिश होती है |

यह भी जरुर पढ़े…

पौधो की ग्राफ्टिंग कैसे की जाती है

एनपीके उर्वरक क्या है – फसलों मे क्या काम होता है

दुकान हेतु – कैसे ले खाद-बीज लाइसेंस 2022-23

एलोवेरा खरीदने वाली कंपनीयां, कीमत, उपयोग

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!