[ इजरायल खेती की तकनीक 2022 ] इजराइल देश की कृषि की जानकारी

Last Updated on August 1, 2022 by [email protected]

इजरायल खेती की तकनीक | इजराइल देश की कृषि तकनीक | इजराइल में गेहूं की खेती | इजरायल खेती | इजरायल खेती की तकनीक | इजरायल की खेती | इजराइल देश की कृषि की जानकारी | इजराइल एग्रीकल्चर

जिस देश की कृषि मजबूत और लाभ देने वाली है तो, मानो उस देश मे कृषि तकनीकों का अच्छा योगदान है | इजराइल की 60% भूमि रेगिस्तानी है इजराइल में पानी की बहुत कमी है लेकिन फिर भी इजराइल देश अपनी जनता और देश के लिए खाद्य सुरक्षा की दृष्टि से आत्मनिर्भर है, आत्मनिर्भरता के साथ बड़ी मात्रा में फल और सब्जियों का बड़ा हिस्सा निर्यात भी करता है |

इजरायल-खेती

कृषि के क्षेत्र में इजराइल का सफलता का बड़ा रहस्य है वहां के किसान तथा सरकार, कृषि वैज्ञानिक, वहां की शिक्षा-नीति, प्राइवेट कंपनियों, जैसे हिस्सों का सहारा | आइए आज हम आपको इजराइल के कृषि क्षेत्र के बारे मे बताएंगे-

इजरायल खेती मे सफलता के पाँच सबसे बड़े कारण-

  • उन्नत किस्मे का प्रयोग
  • सिंचाई की पद्धति
  • फसलों के अलावा इनके भंडारण, पैकेजिंग, मार्केटिंग पर भी ध्यान देना |
  • ऑर्गेनिक खाद बीजों का भी प्रयोग करना 
  • मृदा और फसलों की कमियों और आवश्यकता को ढूंढकर पूर्ति करना | 

इजरायल खेती मे सिंचाई की टेक्नोलॉजी ?

यह देश अपने सिचाई व्यवस्था मे जल का सही प्रयोग कर आज विश्व मे बड़ी मिसाल साबित की है | जिससे प्रेरित होकर आज पूरी दुनिया के विकाशील देश इजरायल खेती की तकनीक का प्रयोग कर रहे है | ड्रिप सिंचाई पद्धति ज्यादा विकशीत है जिससे कुल सिचाई पानी का 95 % पानी का उपयोग मे लिया जाता है | 

इजरायल देश की सिचाई पद्धति को 4 भागों मे बाटा है –

  • ड्रिप इरिगएसन सिस्टम 
  • वेस्ट वाटर मेनेजमेंट 
  • मृदा सेंसर सिचाई पद्धति (Soil sensor & automatic sprinkler / sprey)
  • कोबट रेगिस्तान तकनीक ( Cobat desertfication technology )
इजरायल खेती की तकनीक

इजराइल देश की कृषि की जानकारी ?

  • इस देश मे कुल भूमि का केवल 20 % भाग ही सिचाई हो पाती है, फिर भी इजराइल दुनिया के 10 सबसे बड़े उत्पादक देशों की सूची मे शामिल है |
  • तकनीकी के मामले मे अमेरिका और चीन जैसे देशों को पीछे छोड़ते हुए काफी विकशीत और सटीक कृषि यंत्रों का प्रयोग मे लेते है |
  • इजरायल खेती मे देश की लगभग 5 यनिवर्सिटी कृषि पर शोध करती है | विदेशी छात्र भी इजराइल कृषि रिसर्च संस्थानों से शिक्षा लेने आते है |
  • 1948 में इजराइल देश की स्थापना हुई तभी यहां के प्रधानमंत्री ने  कहा कि हर व्यक्ति को पानी की उपलब्धता तथा खाद्य सुरक्षा इजराइल की पहली प्राथमिकताओ में से एक है |
इजरायल-खेती
  • इजराइल चारों तरफ से दुश्मनों से घिरा है इसीलिए खाद्य सुरक्षा को ध्यान मे रखा |
  • देश के द्वारा एक एसी तकनीक विकशीत की गई है जिसके द्वारा किसी भी फल या सब्जी को 3 महीनों तक शुद्ध और ताजा रखा जा सकता है | और इस तकनीक का फायदा उठाकर अच्छे दामों मे यूरोप के बाजारों मे अपने उत्पादों को बेचते है |
  • दुनिया मे युवा किसानो का देश तो वो इजराइल को कहा जाता है |
  • इजराइल का क्षेत्र अधिकतर रेगिस्तान होते हुए भी लगभग 90% हरा-भरा है जिसका अच्छा सा उदाहरण इजरायल और जॉर्डन की बॉर्डर सीमा पर एक और बड़ा रेगिस्तानऔर सुनसान है, दूसरी ओर इजराइल क्षेत्र में काफी हरा- भरा है |
  • इजरायल खेती दो प्रकार से की जाती है एक तो 40 से 50 किसान मिलकर खेती करना और दूसरी हर किसान अपने परिवार के साथ खेती को करते है |

भारत मे इजरायल खेती तकनीक और सिंचाई प्रणाली का आगमन ?

सन 2008 को भारत और इजराइल देशों के बीच कृषि समझोते पर हस्ताक्षर हुए | इन समझोते के बीच इंडो-इजराइल एग्रीकल्चर प्रोजेक्ट की शुरुआत हुई थी | सरकार के इस प्रोजेक्ट से देश के कृषि मंत्रालय और राज्य की विभिन्न सरकारों  एवं इजरायल कृषि डेवलपर एजेंसियों के बीच कृषि से जुड़ी तकनीकों तथा ज्ञान को एक दूसरे को साझा करना है |

इजरायल-खेती

भारत में विभिन्न राज्यों में 28 से अधिक Centre Of Excellence(उतकष्टता केंद्र ) खोले गए | इन केंद्रों में भारत के किसानों को ट्रेनिंग दी जाती है और इस ट्रेनिंग के तहत सबसे पहले भारत के कृषि वैज्ञानिकों को इजरायल के संस्थानों में ले जाया जाता है तथा वहां उनको ट्रेनिंग दी जाती है और एक अच्छा ट्रेनर बनाया जाता है |

इजराइल से ट्रेनिग लिए कृषि विशेषज्ञ भारत में आकर इन सेंटरों के माध्यम से देश के आम किसानों को ट्रेनिंग देते है | और इन ट्रेनिंग सेंटरों का फायदा भारत के लाखों किसानों ने लिया है और ले भी रहे है |

सन 2017-18 में लगभग इन केंद्रों के माध्यम से 1 लाख 50 हजार किसानों  इजराइल की सफल खेती के तहत ट्रेनिंग ली थी |

जानिए आपके आस-पास इजराइयल कृषि केंद्र, देश के प्रमुख – Centre Of Excellence/ उतकष्टता केंद्र |

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!