[ चीन की खेती 2023 ] यहाँ जानिए चीन में खेती कैसे की जाती है- agriculture in china vs india

Last Updated on November 19, 2022 by krishi sahara

चीन में खेती कैसे की जाती है | modern agriculture in china |चीन की खेती | china agriculture facts | china agriculture problems | चीन में खेती की तकनीक | चीन में खेती कैसे होती है | china agriculture in hindi| चीन में उत्पादित प्रमुख फसलें | agriculture in china vs india

दुनिया के कृषि प्रधान देशों की सूची में शामिल चीन भी एक कृषि प्रधान देश है | दुनिया में शीर्ष कृषि उत्पादों का उत्पादन करके कृषि व्यापार मे भी अपना बड़ा हिस्सा रखता है | चाइना के किसान खेती में उच्च तकनीक और अधिक कार्य कुशल वाले कृषि यंत्र काम मे लेते है |

चीन-की-खेती

चीन के किसानों के पास खुद की जमीन नहीं होती है वह खुद चीन सरकार से लीज/रेंट पर लेकर खेती करते है चीन में किसान खेती के लिए कोई भी प्रॉपर्टी नहीं खरीद सकते और ना ही किसी चीनी नागरिक के पास खेत की जमीन होती है | किसान खेती के लिए भूमि सरकार से किराये पर लेकर उसे सीमित समय के लिए खेती के काम में लेते है |

चीन में खेती कैसे करते है ?

चीन की सरकार देश की अधिक आबादी होने के कारण किसानों को ज्यादा से ज्यादा फसलों का उत्पादन ले इसलिए अधिक कृषि सुविधाएं उपलब्ध कराती है |

  • चीन के एक किसान की प्रति वर्ष औसतन आय की बात करें तो यह 9 लाख से लेकर 12 लाख रुपए प्रति सालाना आय होती है |
  • चीन की खेती में काफी ऑटोमेटिक मशीनरी तथा स्वदेशी मशीनों का ज्यादा उपयोग होता है |
  • चीन मे दुनिया का सबसे ज्यादा अनाज और मांस का खाद्यान्न के रूप में खपत होता है इसलिए यहां के किसान अनाज की खेती के साथ-साथ मांसाहारी खेती भी करते है| चीन में महासारी खेती में सांपों की खेती, मछली पालन, मुर्गी पालन, सूअर पालन, कुकुर पालन आदि के साथ जलीय जीवो की भी खेती के रूप में बड़ा उत्पादन लेते है |
चीन की खेती
  • चीन का कोई भी नागरिक केवल 15 साल के लिए खेती करने के लिए जमीन किराए पर ले सकता है | 
  • चीन के किसान खेती के लिए ली गई भूमि का किराया दो प्रकार से चुका सकते हैं पहले प्रकार के अनुसार 1 से लेकर 15 साल जितने भी समय के लिए किराया पर ली है उसका पैसे देकर भुगतान कर सकते है |
  • दूसरे प्रकार के अंदर किसान को भूमि में से पैदा हुई फसल का कुछ हिस्सा सरकार को देकर भी भुगतान किया जा सकता है |
  • चीन का किसान शुरुआती दिनों में खुद की पसंद की फसल की बुवाई नहीं कर सकता, यह फसल सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है जबकि कुछ समय बाद किसान को अपनी पसंद के अनुसार फसल बोने की धीरे-धीरे छूट दे दी जाती है |
  • चाइना की सरकार, किसानो को खेती के लिए किराए पर हाई टेक्निक उच्च तकनीकी की मशीनें सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाती है | 
चीन-की-खेती

चीन मे खेती का आकड़े ?

  • चीन मे 15% भाग पर ही केवल खेती की जाती है | जबकि भारत मे 60% हिस्से मे खेती की जाती है | 
  • चाइना पूरी दुनिया का 25% अनाज उत्पादन करता है |
  • चीन मे 24 मिलियन हेक्टेयर पर गेहू की बिजाई की जाती है और 190 मिलियन मीट्रिक टन गेहू का उत्पादन होता है |
  • चीन में  कुल कृषि योग्य भूमि का लगभग 90%  एरिया सिंचाई के योग्य है |

चीन में किसकी खेती होती है ?

चीन में लगभग सभी प्रकार की खाद्यान्न फसलों की उपज ली जाती है, साथ ही बता दे की चीन क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़ा होने के कारण इसके जलवायु तथा क्षेत्रीय विभिन्नता भी अलग-अलग पाई जाती है| और इन्हीं विभिन्नता के कारण दुनिया की लगभग 50 से अधिक अलग-अलग फसलों का उत्पादन लिया जाता है |

चीन के पूर्वी और पश्चिमी हिस्से में वर्ष में एक फसल ली जाती है और उत्तरी चीन में वर्ष में दो बार फसल ली जाती है साथ ही चीन के दक्षिणी भाग में साल में तीन बार अलग-अलग फसलों की पैदावार ली जाती है |

चीन-की-खेती
चीन में खेती कैसे की जाती है | चीन की खेती | agriculture in china vs india

चीन में उत्पादित प्रमुख फसलें  ?

बात करें चीन में उत्पादित प्रमुख फसलों की तो मुख्य रूप से मकई,बाजरा,गेहूं, सोयाबीन,आलू और तिलहन की खेती होती है|

चीन के उत्तरी भाग की मुख्य फसलें गेहूं, धान, कपास, तंबाकू, मूंगफली, तिल व मकई है|

जबकि दक्षिण चाइना मे धान, गेहूं, कपास, सरसों, तंबाकू, चाय, गन्ना, मकई की फसले प्रमुख रूप से होती है|

चीन में कौन-कौन सी फसल होती है?

चीन के उत्तरी भाग की मुख्य फसलें गेहूं, धान, कपास, तंबाकू, मूंगफली, तिल व मकई है |

चीन के किसान की आय कितनी होती है?

चीन के एक किसान की प्रति वर्ष औसतन आय की बात करें तो यह 9 लाख से लेकर 12 लाख रुपए प्रति सालाना आय होती है |

चीन में कृषि का निजीकरण?

चीन के किसानों के पास खुद की जमीन नहीं होती है वह खुद चीन सरकार से लीज/रेंट पर लेकर खेती करते हैं चीन में किसान खेती के लिए कोई भी प्रॉपर्टी नहीं खरीद सकते और ना ही किसी चीनी नागरिक के पास खेत की जमीन होती है |

Agriculture in china vs india

चीन मे 15% भाग पर ही केवल खेती की जाती है | जबकि भारत मे 60% हिस्से मे खेती की जाती है |

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!