[ DBW 187 गेहूं किस्म 2023 ] यहाँ जाने – करण वंदना यानि 187 गेहूं की पैदावार, बुवाई का समय, उपज, बीज की कीमत – dbw 187 wheat variety details in hindi

Last Updated on November 23, 2022 by krishi sahara

रबी सीजन में गेहूं की खेती को लेकर जागरूक किसानों की सबसे अच्छी गेहूं की किस्मों में मानी जाती है – DBW 187 गेहूं किस्म | भारतीय गेहूँ एवं जौ अनुसंधान संस्थान, करनाल से विकसित गेहूं की यह किस्म है, जो अपने अच्छे उपज और उत्पादन के लिए जानी जाती है | किसान भाई अच्छी पैदावार वाले गेहूं बीजों के लिए डीबीडब्ल्यू 187 गेहूं किस्म की बुआई भी कर सकते है, इस किस्म को करण वंदना के नाम से भी जाता है | यह गेहूं की हाइब्रिड किस्म है|

DBW-187-गेहूं-किस्म

इस लेख में आप जानोगे, जैसे की – करण वंदना /DBW 187 गेहूं की विशेषताए? dbw 187 wheat variety full form? dbw 187 गेहूं की पैदावार? DBW 187 गेहूं की किस्म बुवाई का समय

DBW 187 गेहूं की जानकारी/विवरण ?

इस किस्म को गेहूं की उन्नत बीजों वाली वेरायटी में माना जाता है, करण वंदना गेहूं बीज की फसल में कम रोग-कीट, देखभाल के साथ अच्छा उत्पादन देती है | इस गेहूं में अधिक प्रोटीन होने के कारण बाजार में अधिक मांग मे रहता है |

देश में dbw 187 गेहूं की खेती सर्वाधिक झारखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, असम, पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, दिल्ली और उत्तर पूर्वी राज्यों के मैदानों में की जाती है|

DBW 187 गेहूं की किस्म बुवाई का समय ?

इस वेरायटी की बुवाई के लिए सबसे उत्तम समय 25 अक्टूबर से 10 नवंबर तक माना गया है | इसकी पछेती बुवाई वाली खेती में 5 नवंबर से 25 नवंबर के मध्य भी कर सकते है|

करण वंदना /DBW 187 गेहूं की विशेषताए ?

  • इस किस्म को कम सिंचाई की आवश्यकता होती है, 2 या 3 सिंचाई में भी यह किस्म अच्छे से पक जाती है|
  • यह किस्म पीले और भूरे रस्ट रोग के प्रति उच्च सहनशील किस्म है |
  • भारतीय गेहूँ एवं जौ अनुसंधान संस्थान, करनाल से विकसित किस्म है |
  • इस किस्म में प्रोटीन 10%, आयरन 40%, तक होता है, जो की हमारे स्वास्थ के लिए अच्छा होता है|
  • इस किस्म की फसल को तैयार होने में लगभग 110-120 दिनों का समय लग जाता है |
  • इस किस्म के पौधे की ऊंचाई 100 सेंटीमीटर तक की होती है|
  • इसकी पैदावार 65 कुंटल प्रति हेक्टेयर के आस-पास तक होती है|
  • इस वेरायटी की उच्च गुणवता के कारण बाजार में सालभर मांग में रहती है |

गेहूं की उन्नत किस्म करण वंदना की सिंचाई ?

इस फसल से अच्छी पैदावार के लिए सिंचाई का समय पर ध्यान देना चाहिए, कुल 2 से 3 सिंचाई पर्याप्त है | बीज बुआई के 6 से 7 दिनों के बाद आपको इसकी प्रथम सिंचाई कर देनी है और बची दो सिंचाई आपको 15 से 20 दिनों के अंतराल में कर सकते है|

DBW 187 गेहूं की किस्म ऑनलाइन खरीदें ?

यदि आप DBW 187 गेहूं बीज को नजदीकी कृषि बाजार, कृषि संस्थान, कृषि विज्ञान केंद, सोशल माध्यम, बीज भंडार से भी इसके बीज खरीद सकते है, या फिर ऑनलाइन माध्यम से भी आप इस किस्म को ऑर्डर कर सकते है |

187 गेहूं की पैदावार कितनी है/dbw 187 wheat yield ?

किसान भाइयों, इस किस्म की उन्नत अच्छी खेती करते है, तो आप इसकी अच्छी पैदावार ले सकते है | सामान्य परिस्थति में औसत पैदावार की बात करें, तो 60 से 70 कुंटल प्रति हेक्टेयर तक ली जा सकती है |

करण वंदना dbw 187 गेहूं की खेती सर्वाधिक कहाँ होती है ?

हर साल रबी सीजन में करण वंदना वेरायटी को सर्वाधिक पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड, दिल्ली, ओडिसा और असम आदि राज्यों के क्षेत्रों में अच्छे रकबे में बोया जाता है |

DBW 187 गेहूं किस्म कीमत ?

DBW 187 किस्म को बाजार में गेहूं किस्म का भाव 2200 से लेकर 2800 रु प्रति क्विंटल तक के भाव देखने को मिलते है | वही बीज बुवाई वाले दिनों में बीज के रूप में भाव 5000 रु/ क्विंटल के आस-पास मे बने रहते है |

करण वंदना /dbw 187 गेहूं का बीज कहाँ मिलेगा ?

करण वंदना 187 गेहूं का बीज आपको कृषि भंडार, कृषि मंडी में आसानी से मिल जाएगा| – ऑनलाइन

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!