[ Pyaj ki kheti ] यहां जानें प्याज की खेती कब और कैसे करें 2022 | Top Onion seed

Last Updated on November 10, 2022 by krishi sahara

प्याज की खेती कौन से महीने में होती है | onion ki kheti |  pyaj की नर्सरी कैसे लगाएं | pyaj ki kheti | प्याज की उन्नत खेती | प्याज कैसे लगाएं | प्याज का बीज कैसे तैयार करें –

प्याज की खेती भारत में लगभग सभी राज्यों मे की जाती है तथा किसान अधिक उत्पादन के लिए हर एक उपाय खोजता रहता है | भारतीय बाजारों मे पूरे साल प्याज की मांग रहने के साथ किसान प्याज की खेती के नवीनतम तरीकों से और अच्छा लाभ कमा सकता है, आइए जानते है प्याज की खेती कब और कैसे करें एव प्याज की खेती की सम्पूर्ण जानकारी –

प्याज-की-खेती
Contents hide

प्याज का वैज्ञानिक नाम क्या है ? 

प्याज का वैज्ञानिक नाम “एलियम सेपा” (Allium cepa) है |

प्याज की खेती बारे में जानकारी (pyaj ki kheti kaise kare in hindi)

जानिए प्याज की नर्सरी से लेकर प्याज का बाजार तक का सफर –

प्याज-की-खेती

नर्सरी तैयारी या पौध की तैयारी –

प्याज की नर्सरी तैयार करने से पहले यह निश्चित करना होता है कि प्याज रबी के मौसम के लिए कर रहा है या खरीफ की फसल के लिए |

नर्सरी के लिए प्याज के बीज 3 से 3.5 किलोग्राम बीज प्रति एकड़ की आवश्यकता होती है | अथवा एक हेक्टेयर के लिए 8 से 9 किलोग्राम प्याज के बीज की जरूरत होती है |

क्रम. स. प्याज की खरीफ फसलप्याज रवि की फसल
1 खरीफ की फसल तैयार करने के लिए प्याज की नर्सरी 15 जून से 15 जुलाई तक तैयार कर सकता है | तथा इसकी नर्सरी 40 से 45 दिनों में तैयार हो जाती है | किसान रवि की फसल के लिए नर्सरी तैयार करता है तो नर्सरी तैयारी का समय नवंबर-दिसंबर महीने में नर्सरी तैयार कर सकता है |
2 35 से 40 दिनों की प्याज की पौध खेतों में रोपाई या रोपने के लायक हो जाती है |रोपाई के लिए 40 से 45 दिनों बाद यानी जनवरी-फरवरी में प्याज की नर्सरी लगाने के लिए तैयार हो जाती है |
प्याज-की-खेती

प्याज की खेती के लिए जलवाऊ और मिट्टी –

जलवायु की बात करें तो इस खेती के लिए ना तो ज्यादा ठंड और ना ही ज्यादा गर्म मौसम हो लेकिन जब प्याज का कंद पकने की अवस्था में वातावरण का तापमान 30 से 35 डिग्री सेंटीग्रेड होना आवश्यक है |

इसकी खेती के लिए मिट्टी की बात की जाए तो प्याज की खेती पीली मिट्टी, दोमट मिट्टी तथा उत्तम जल निकास वाली भूमि वाले स्थानों पर | वैसे लगभग भारत के सभी राज्यों में इसकी खेती सफलतापूर्वक की जा सकती है, अधिक अम्लीय और क्षारीय मिट्टी पर की खेती कम सक्षम है अर्थातः मिट्टी का जीवाश्म युक्त होना जरूरी है | PH मान 6.5 से 7.5 मान वाली मिट्टी मे उपयुक्त है |

प्याज की खेती का समय –

प्याज की खेती किसान दो समय पर कर सकता है एक तो रवि के मौसम पर दूसरा खरीफ के मौसम में खरीब के मौसम में प्याज की उन्नत खेती के लिए किसान अगस्त-सितंबर-अक्टूबर के प्रारंभिक सप्ताह में प्याज की रोपाई कर सकता है |

यदि किसान रबी की मौसम में प्याज की उन्नत खेती करना चाहता है तो उसके लिए जनवरी से फरवरी में प्याज की रोपाई कर सकता है, यह रवि की मौसम में प्याज की खेती का उतम समय है |

प्याज-की-खेती

प्याज की उन्नत किस्में –

 रवि की फसल की बुवाई हेतु प्याज की वेराइटी खरीफ की बुवाई हेतु प्याज की उन्नत किस्में
पूसा रेड
रतनारा पूछा
एग्री फाउंड रोज 
कल्याणपुर रैड राउंड
अर्का कीर्तिमान
Agri found dark red ,
N- 53 ,
F-1 Hybrid seeds onion
ब्राउन स्पेनिश
एन- 257-1.
प्याज की वेराइटी / प्याज की किस्मे

प्याज के पौधे से पौधे की दूरी –

पौधे से पौधे की जो दूरी है 8 से 10  सेंटीमीटर रखनी चाहिए | तथा कतार से कतार की जो दूरी है वह 8 सेंटीमीटर पर्याप्त होता है | 

सिचाई कैसे करें  –

प्याज की खेती के लिए ड्रिप सिचाई विधि के द्वारा तथा नाली / क्यारी विधि के द्वारा सिंचाई कर सकता है दोनों तरीकों से ही किसान उन्नत फसल ले सकता है |

सिंचाई की बात करें तो देश के कई-कई राज्यों में प्याज की पौध लगाने से पहले एक बार पानी दे देते है तथा कई-कई राज्यों में प्याज की पौध लगने के बाद में सिचाई है | तो किसान को उसकी भूमि मे नमी के अनुसार पहली सिंचाई करनी चाहिए | पहली सिचाई के बाद खेत मे 8 से 10 दिन के अंतराल में पानी चलाना चाहिए |

प्याज-की-खेती

प्याज की खेती में कौन सी खाद डालें –

इसकी खेती में खाद की बात करें तो जहां तक हो सके जैविक खाद का प्रयोग करें और यदि किसान रसायन खाद को भी शामिल करना चाहता है तो सिंगल सुपर फास्फेट, डीएपी, यूरिया, पकी हुई गोबर खाद डालकर खेत को अच्छी तरह से रोटेवर की सहायता से मिट्टी की 2-3 पलटवार करवा लेना होगा |

बुआई से लगभग 15 दिन पहले खेत मे पक्की हुई गोबर खाद डालकर हल या कल्टीवेटर की सहायता से मिट्टी में पलटी करवा दे तैयार खेत मे 25-30 टन प्रति हेक्टेयर के हिसाब से |

प्याज-की-खेती

प्याज की खेती में खरपतवार नाशक/ खरपतवार नियंत्रण –

प्याज की खेती में खरपतवार नियंत्रण के लिए एक तो मजदूरों की सहायता से तथा दूसरा रासायनिक दवाओं का प्रयोग करके खेत में होने वाले अनावश्यक खरपतवार को हटा सकते हैं | यदि किसान मजदूरों की सहायता से खरपतवार को बाहर निकलता है तो पूरी फसल मे दो बार खुरपी से मिट्टी हटा देना चाहिए |

इसी के साथ रासायनिक दवा का प्रयोग से देखा जाए तो किसान Adama Dekel Herbicade  का छिड़काव कर सकते है, नोट इसका प्रयोग करने से पहले खेत में सिचाई करे क्योंकि इसका प्रयोग करने से पहले खेत में नमी का होना बहुत जरूरी है |

प्याज की कटाई कब करें –

जब प्याज की फसल पीली होकर झुकने लगे मतलब फसल के अंतिम चरण होने लगे तब प्याज को उखाड़ लेना चाहिए, प्याज की खेती पकने के समय से 15 दिन पहले ही सिंचाई बंद कर देनी चाहिए, 10 से 15 दिन तक खेत में ही खुला छोड़ देना चाहिए इससे ठीक तरीके से सुख जाए, यह इसलिए कि जब स्टोरेज करेंगे उस समय प्याज में किसी भी तरह की बीमारी, कंद जैसी अन्य कोई समस्या ना आए |

प्याज का प्रति एकड़ उत्पादन –

बात करें इसके भूमि के अनुसार उत्पादन की तो प्याज क्षेत्र से 100 क्विंटल प्रति एकड़ का उत्पादन हो जाता है | यदि किसान अच्छी तरीके से करें तो उत्पादन बढ़ सकता है तथा उत्पादन कम भी हो सकता है यह सब खेती की देखरेख और खेत तैयारी मौसम आदि पर निर्भर करता है |

प्याज-की-खेती

प्याज की खेती सबसे ज्यादा कहां होती है ?

बात करे देश मे प्याज का ज्यादा उत्पादन वाले राज्य और क्षेत्र तो इनमे महाराष्ट्र, गुजरात, मध्यप्रदेश, उतरप्रदेश, उड़ीसा, कर्नाटक, तमिलनाडु आंध्रप्रदेश, बिहार इन सभी जगहों पर प्याज का अच्छा उत्पादन लिया जाता है |

भारत मे प्याज का सबसे अधिक उत्पादन मध्यप्रदेश मे होता है |

2022 मे चल रही देश की सबसे बड़ी 50 किसान योजनाऐ देखने के लिए देखे – लिंक

प्याज की खेती कितने दिन में होती है?

यदि किसान बीज लगाकर सीधी बुआई करता है तो फसल 120 से 140 दिन मे तैयार होती है, जबकि नर्सरी से पौध लगता है तो 60 से 90 दिन मे प्याज की फसल पूर्ण रूप से तैयार हो जाती है |

प्याज की नर्सरी कितने दिन में तैयार हो जाती है?

खरीफ की फसल तैयार करने के लिए प्याज की नर्सरी 15 जून से 15 जुलाई तक तैयार कर सकता है तथा इसकी नर्सरी 40 से 45 दिनों में तैयार हो जाती है |

प्याज के बीज कैसे बोए जाते हैं?

नर्सरी के लिए प्याज के बीज 3 से 3.5 किलोग्राम बीज प्रति एकड़ की आवश्यकता होती है | अथवा एक हेक्टर के लिए 8 से 9 किलोग्राम प्याज के बीज की जरूरत होती है |

प्याज की खेती कौन से महीने में की जाती है?

प्याज की नर्सरी तैयार करने से पहले यह निश्चित करना होता है कि प्याज रवि के मौसम के लिए कर रहा है या खरीफ की फसल के लिए |

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!