[ जीवामृत खाद क्या है 2022 ] यहाँ जानें – जीवामृत कैसे तैयार किया जाता है, जीवामृत बनाने की विधि – Organic Jivamrut

Last Updated on November 1, 2022 by krishi sahara

जैविक खाद का महत्व दिन प्रति दिन बढ़ता ही जा रहा है, आज के समय सबसे सस्ती और कामगार खाद/कीटनाशक के रूप मे काम कर रहा है | जीवामृत खाद का उपयोग करने से जमीन को सभी जरूरी पोषक तत्व मिलते है, जिसकी वजह से सूक्ष्म जीवो की गतिविधि भी बढ़ जाती है| जैविक खाद से फसलों में बीमारियां होने का खतरा नही होता है |

वर्तमान मे बढ़ते केमिकल उर्वरकों पर लगाम लगाने में सरकार और जागरूक किसान की महत्वपूर्ण भूमिका बनती जा रही है |

जीवामृत-खाद-क्या-है

जीवामृत खाद क्या है?

“जीवामृत” शब्द संस्कृत के दो शब्दो से मिलकर बना है “जीवन” और “अमृत”, जीवामृत शब्द का शाब्दिक अर्थ है – जीवन के लिए अमृत होता है| जीवामृत खाद पौधे और मिट्टी दोनो के लिए लाभदायक होता है, इस खाद को भारतीय किसान अधिक पसंद करते है, क्योंकि यह खाद अन्य केमिकल उर्वरकों से सस्ता पड़ता है|

जीवामृत, एक कीटनाशक और जैविक खाद के रूप में उत्तम खाद के रूप में काम करता है | इसमें प्राकृतिक कार्बन, बायोनास, नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटेशियम आदि आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्वों होते है, जो फसल की सुरक्षा और वृद्धि का एक उत्कृष्ट स्रोत माना जाता है| इस खाद का उपयोग करने के पर फसलों को विभिन्न रोगों से सुरक्षा करता है और साथ ही पौधे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ता है|

जीवामृत खाद कैसे बनाएं/ जीवामृत कैसे तैयार किया जाता है?

किसान भाई, यदि आप घर पर ही जीवामृत खाद बनाना चाहते है, तो आपको नीचे दिए गई विधियों को फॉलो करना होगा, यह खाद पूरी तरह से ऑर्गेनिक होगा –

  • जीवामृत खाद को तैयार करने के लिए, आपको सबसे पहले 10 किलोग्राम गाय का गोबर लेना है, ध्यान रखे आपको गोबर ताजा ही लेना है, क्योंकि ताजे गोबर में जीवाणु की संख्या ज्यादा होती है |
  • इसके बाद अपको 10 लीटर गौमूत्र लेना है|
  • फिर आपको 1 किलोग्राम पुराना सड़ा हुआ गुड़ लेना है, यदि आपके पास वर्तमान में गुड उपलब्ध न हो तो, आप इसकी जगह पर 4 लीटर गन्ना का रस का भी उपयोग कर सकते है|
  • इसके बाद आपको किसी भी प्रकार की 1 किलोग्राम दाल आटा या फिर आप बेसन का उपयोग भी कर सकते है|
  • यह तक पहुंचने के बाद आपको 1 किलोग्राम खेत से मिट्टी लेनी है, जो की जीवाश्म युक्त हो और जहा पर कभी किसी कीटनाशक का प्रयोग न हुआ हो|
  • फिर आपको 25 लीटर के 4 गेलन पानी की आवश्यकता पड़ेगी|
  • इसके बाद आपको 200 लीटर वाला एक बड़ा सा ड्रम लेना है, इस ड्रम को आपको छाव में रखना होगा|
  • फिर आपको गौमूत्र और अन्य पदार्थ का घोल बना कर इसमें मिला देना है, और फिर इस साफ कपड़े से ढक देना है|
  • इस घोल को कम से कम एक सप्ताह तक सड़ने के लिए छोड़ देना है|
  • एक सप्ताह बाद आपको इसका उपयोग अपने खेत में छिड़काव कर लेना है|
जीवामृत खाद क्या है

जीवामृत खाद किस-किस से बनाया जा सकता है ?

जीवामृत खाद को बनाने के लिए आपको गाय का गोबर, पानी, गौमूत्र, मिट्टी, गुड, दाल का आटा, बेसन, बड़ा ड्रम, साफ कपड़ा इत्यादि की आवश्यकता पड़ती है|

जीवामृत बनाने के फायदे ?

  • यदि आप इस खाद को घर पर ही बनाते है तो आपको इसके लिए कोई खर्च करने की आवश्यकता नही होती है|
  • इस खाद को बनाना काफी आसान है|
  • जीवामृत खाद बनाने की सभी सामग्री सस्ती है और साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों और खेत में यह सामग्री आसानी से मिल जाती है|
  • जीवामृत का उपयोग करने पर उगाई गई सब्जियां, फल, अनाज देखने में बहुत सुंदर और खाने में भी अधिक स्वादिष्ट होती है|
  • बीजों की अंकुरण क्षमता भी बढ़ती है|

जीवामृत का उपयोग कैसे करें ?

  • इस जीवामृत खाद को आप 5%-10% पानी में मिलाकर स्प्रे कर सकते है |
  • यदि आपके पास स्प्रे पंप न हो तो आप अपने पौधे में जीवामृत का इस्तेमाल आप बीज बोने के बाद आप पहले महीने में मिट्टी की सतह पर दो पौधे के बीच 1 कप जीवामृत डाल सकते है|
  • आपको जीवामृत खाद को एक महीने में दो या तीन बार स्प्रे करना होगा|
जीवामृत खाद क्या है

जीवामृत में कौन-कौन से तत्व पाए जाते हैं?

जैविक खेती में प्राकृतिक खाद के रूप में जीवामृत खाद का उपयोग किया जाता है, इस खाद में कार्बन, नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटासियम और अन्य आवश्यक सूक्ष्म पोषण तत्व होते है|

कम्पोज और वर्मिकपोस्ट खाद की तुलना में जैविक खाद बहुत ही आसानी से और जल्दी तैयार किया जा सकता है | रासायनिक और वर्मिकपोस्ट खाद के साइड इफेक्ट भी बहुत ज्यादा है और जीवामृत खाद के कोई भी साइड इफेक्ट अभी तक सामने नही आया है |

जीवामृत खाद price ?

भारतीय बाजार में जीवामृत खाद लिक्विड रूप मे मिलता है, जिसका पैकिंग के अनुसार अलग-अलग रेट मे मिलता है | औसत भावों की बात करें तो जीवामृत खाद की कीमत – 15 से 25 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से आसानी से मिल जाता है |

यह खाद आप आपको कृषि स्टोर या बाजार में आसानी से मिल जाएगी, खाद आपको फिर भी न मिले तो आप इस खाद को ऑनलाइन माध्यम से भी मंगवा सकते है|

जीवामृत तैयार करने में कितना समय लगता है?

अच्छी क्वालिटी का जीवामृत खाद को तैयार करने में 5 से 7 दिनों (1 सप्ताह) का समय लगता है|

जीवामृत बनाने की विधि pdf ?

जीवामृत को बनाना आसान है, इसको बनाने के लिए आपको सिर्फ गाय का गोबर, पानी, गौमूत्र, मिट्टी, गुड, दाल का आटा, बेसन, बड़ा ड्रम, साफ कपड़ा आदि की आवश्यकता पड़ती है| यह खाद आप अपने घर बैठे आसानी से बना सकते है| – जीवामृत खाद पीडीएफ

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!