[ बंसी गेहूं की खेती 2022 ] जानिए बंसी गेहूं का बीज भाव, वैराइटी, जैविक खेती का तरीका, उपज पैदावार – Bansi Wheat Variety

Last Updated on September 19, 2022 by [email protected]

बंसी गेहूं की खेती मे जलवायु और मिट्टी | बंसी गेहूँ की जैविक खेती कैसे करें | बंसी गेहूं का बीज भाव और कहाँ मिलेगा | bansi gehu ki kheti | bansi gahu benefits | बंसी गेहूं price –

पुराने समय से हर एक किसान और आम लोग कौन नहीं जानता बंसी गेहूं वैराइटी के बारे में | आज से 7-8 साल पहले बंसी गेहूं को खूब उपजाया जाता था, लेकिन जैविक तरीकों मे फल-फूलने वाली किस्म की उपज सामान्य होने के कारण छोड़ने लग गए | आज भी देश के जागरूक किसान भाई बंसी गेहूं की खेती करना ज्यादा पसंद करते है, अच्छे भाव मे अपनी ब्रांड फसल को बेचते है | बंसी गेहूं की खेती करना बड़ा ही आसान है, बंसी गेहूं की खेती जैविक / ऑर्गेनिक तरीके से करने से अच्छी उपज उत्पादन देती है |

बंसी-गेहूं-की-खेती

इस लेख में हम आपको बताएंगे की बंसी गेहूं की खेती कैसे करे? बंसी गेहूं का बीज क्या भाव चल रहा है? बंसी गेहूं की कई वैराइटी के बारे में, गेहूं की खेती जैविक तरीके से कैसे करे? बंसी गेहूं का उपज पैदावार क्या है –

बंसी गेहूं क्या है ?

बंसी गेहूं एक प्राचीन गेहूं की पोषणयुक्त तत्व वाली प्रजातियों में से एक सर्वशेष्ठ गेहूं किस्म है| देशी बंसी गेहूं 100% शुद्ध देशी बीज से उत्पादित गेहूं है| बंसी गेहूं का उत्पादित नॉन हायप्रिट तरीके से हुआ है, जो हाइब्रिड गेहूं नही है यह एक शुद्ध प्राकृतिक/ जैविक/ऑर्गेनिक बीज है|

बंसी गेहूं का आटा हल्का सा पीले रंग का होता है जबकि अन्य हाइब्रिड गेहूं का आटा सफेद होता है| देशी बंसी गेहूं में उच्च प्रोटीन पाया जाता है| इसमें लगभग 14% से 18% तक प्रोटीन पाया जाता है जो की अन्य गेहूं में सिर्फ 2% से 5% पाया जाता है|

बंसी गेहूँ की जैविक खेती कैसे करें ?

खरीफ फसल के काटने के बाद, खेत को 2 या 3 बार अच्छे से जुताई करा लेना है, पुराने फसल अवशेषों को खेत से निकाल देना है, मिट्टी का उपजाऊपन बढ़ाने के लिए पक्की हुई गोबर खाद खेत मे डालना चाहिए | बंसी गेहूं की खेती में आपको जैविक खाद, जैविक दवाईयां और जैविक बीज का उपयोग करना होगा| यदि बीज को प्राकृतिक विधि से बुवाई करेंगे तो आपको इस खेती में उच्च लाभ मिलेगा|

बंसी गेहूं का बीज भाव और कहाँ मिलेगा ?

बंसी गेहूं का बीज भाव वर्तमान में 4500 रु से 6000 रु/कुंटल मिल रहा है | बीज के लिए आप पुरानी बंसी गेहूं को भी तैयार कर सकते है- ध्यान रखे उपचारित करके बोए इसके लिए जैविक तरीके से उपचारित करें |

यदि आप भी बंसी गेहूं का बीज बहार से खरीदना चाहते है तो नजदीकी कृषि खाद-बीज दुकान, बाजार में मिल जाएगा अन्यथा आप इससे ऑनलाइन ऑडर करके भी खरीद सकते है|

बंसी गेहूं की खेती मे जलवायु और मिट्टी ?

बंसी गेहूं की फसल एक शीतोष्ण जलवायु की फसल है, बंसी गेहूं के बुआई के समय 20 डिग्री से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान की आवश्यकता होती है| बंसी गेहूं के विकास के समय ठंड आवश्यक होती है | बंसी गेहूं के दाने पकने के लिए पर्याप्त गर्मी की आवश्यकता होती है|

बंसी गेहूं की खेती करने के लिए पर्याप्त जलधारा क्षमता वाली दोमट, काली, बलुई, दोमट भूमि / जमीन उच्च होना चाहिए| बंसी गेहूं की बुआई आपको 15 अक्टूबर से नवंबर माह तक समय मे करना चाहिए यह समय बंसी गेहूं के बुआई के लिए उत्तम समय होता है|

बन्सी गहू सिंचाई ?

  1. बंसी गेहूं की प्रथम सिंचाई आपको बुआई के 20 दिनों से 30 दिनों के बीच कर देनी है इससे गेहूं की जड़ों का विकास होगा और गेहूं का ग्रोथ होना शुरू हो जाएगा |
  2. दूसरी सिंचाई आपको बुआई के 45 से 50 दिनों के बीच कर सकते है, कल्ले फूटने पर सिंचाई शुरू करे |
  3. तीसरी सिंचाई आपको 70 से 75 दिनों में कर देनी है जब गेहूं में बलिया निकलना शुरू हो जाए |
  4. चौथी सिंचाई आपको दाना पकते समय कर देना है, जैसे की फसल पूरी तरह से पक जाए तब आप इसकी कटाई का काम शुरू कर सकते हो|

bansi gahu benefits ?

  • बंसी गेहूं में 14% से 18% तक प्रोटीन पाया जाता है|
  • बंसी गेहूं से निर्मित आटे की रोटियां लंबे समय तक नर्म रहती है| इस गेहूं से बने व्यंजन खाने मे पोष्टिक, प्रोटीन से भरपुर रहता है|
  • जहरमुक्त शुद्ध देशी बंसी गेहूं के ब्रांड से देशभर मे प्रसिद्ध है, यह गेहूं |
  • इसकी खेती बिना रसायनिक उर्वरकों से तैयार होती है, जो मानव स्वास्थ्य के लिए उत्तम मानी जाती है |
  • बंसी गेहूं का आटा न के बराबर चिपचिपा होता है, यह उच्च फाइबर युक्त गेहूं होता है|

Bansi Wheat Grown tips ?

यदि आप चाहते है की बंसी गेहूं की ग्रोथ जल्द हो जाए तो इसके लिए जुताई के समय पकी/सड़ी गोबर या फिर अंतिम जुताई मे केचुआ कॉम्पोस्ट खाद का प्रयोग करना चाहिए |

फसल मे शुरुआत से अनावश्यक खरपतवार के प्रति सचेत रहना चाहिए, चारा फसल को उखाड़ते रहना है |

बंसी गेहूं वैराइटी को रसायनिक खाद के प्रयोग से दूर रखना चाहिए |

बंसी गेहूं price क्या चल रहा है ?

बंसी गेहूं का भाव वर्तमान में 40 रुपए/ किलो के आस-पास चल रहा है| रबी का सीजन मे बुवाई के चलते इसका भाव उच्च हो जाता है|

आज के समय बंसी गेहूं की डिमांड ?

वर्तमान समय में बंसी गेहूं की डिमांड बाजार में अधिक है, जागरूक जनता बाजार मे बंसी गेहूं को खेज रही है | लगातार बढ़ती भागदौड़ के बीच किसान और आम जनता जैविक तरीकों से उपजाई जाने वाली अनाज को खरीदने मे अच्छी कीमत लेने-देने को तैयार है | – बंसी गेहूं से जुड़ी खबर

बंसी (देशी) गेहूं की पैदावार प्रति एकड़ ?

सामान्य देखरेख से बंसी (देशी) गेहूं की पैदावार 12 से 15 कुंटल प्रति एकड़ है, यदि आप इस फसल में जुताई से लेकर कटाई तक अच्छी देखरेख करते है तो पैदावार अच्छी रहेगी, जिससे 15-16 कुंटल/एकड़ भी टच कर सकते है|

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!