[ गेहूं 306 यानि शरबती गेहूं 2023 ] यहाँ जानिए शरबती गेहूं की खेती – भाव

Last Updated on November 16, 2022 by krishi sahara

गेहूं की सरकारी कीमत से दुगने भाव में बिकने वाला शरबती गेहूं देश में कम उत्पादित होता है | तथा मांग इतनी बनी हुई है कि किसान को इसके 3000 रुपये से लेकर ₹4500 तक के भाव मिल रहे हैं | स्वादिष्ट और सोने जैसी सुनहरी शरबती गेहू को लेकर पूरे देश मे अपनी विशिष्ट पहचान बनी हुई है

शरबती-गेहूं-भाव-2021

यह गेहूं अधिकतर एडवांस बुकिंग में बोया जाता है क्योंकि इसकी उत्पादन क्षमता अन्य गेहूं की तुलना में कम होती है | तथा रसायनिक दवाइयां भी इसके ऊपर कम काम करती है यदि रासायनिक दवाओं का इसके उपयोग किया जाए तो उत्पादन में बहुत ही घट जाता है | इस गेहू को C-306 जिसे शरबती गेहू भी कहते है |

शरबती गेहूं की पहचान और विशेषताए ?

  • शरबती गेहूं एक प्रकार से प्राकृतिक गेहूं है तथा इसकी खेती प्राकृतिक रूप से की जाती है इसमें किसी भी प्रकार का पेस्टिसाइड केमिकल यूरिया डीएपी का प्रयोग नहीं किया जाता है |
  • शरबती गेहूं में जैविक खाद का प्रयोग किया जाता है जिसमें जीवामृत और घन जीवामृत जैसे खाद शामिल है |
  • सामान्य गेहूं की तुलना में यह गेहूं स्वाद में मीठा और स्वादिष्ट होता है |
  • C-306 / शरबती गेहूं में ग्लूकोज सर्करा, सुक्रोज की मात्रा अधिक पाई जाती है इसलिए इसकी बनी रोटियां मुलायम और ताजा रहती है |
  • यह रोटियां लंबे समय तक ताजा बनी रहती है, जबकि अन्य प्रकार के गेहूं की भोजन/रोटियां कुछ समय बाद ठंडी होने के बाद स्वादिष्ट नहीं लगती है |
शरबती गेहूं भाव 2021
  •  शरबती गेहूं गोल और पूर्ण चमकदार होते हैं यह चमक रासायनिक पोटास गुण के कारण के कारण होती है |
  • इस गेहूं को देश और विदेश की कंपनियां गोल्डन ग्रेन गेहूं के नाम से बेचती हैं |
  •  इसके थोड़े से दाने ही हथेली में रखने पर वजन महसूस होता है |सी-306 गेहूं का दाना ठोस और वजनदार होते हैं जो पोटाश की मात्रा अधिक होने के कारण होता है |
  • बड़े-बड़े होटल,  पार्टिया, बड़े घराने अधिकतर शरबती गेहूं का ही प्रयोग में किया जाता है |
  • बाजार में मिलने वाला महंगा चक्की का आटा अधिकतर शरबती गेहूं की किस्म का ही बना हुआ होता है |
  • शरबती गेहूं की पहचान इसकी बढ़वार 5 फीट से भी ज्यादा तक की चली जाती है |
  • दाना दिखने में पूर्ण रूप से गोल एव सुनहरी सफेद रंग का होता है |
  • शरबती गेहूं का दाना 99 प्रतिशत शुष्क होता है क्योंकि यह गेहूं अधिकतर असिंचित क्षेत्रों में पैदा किया जाता है |
sharbati gehu ka bhav

शरबती गेहूं की कीमत ?

शरबती गेहूं की रेट की बात करें तो अप्रेल 2022 में मध्य प्रदेश की नगर कृषि उपज मंडी मंडी में यह गेहूं 2022 का सबसे महंगे भाव में  4250 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बिका है |अशोकनगर मंडी उपज के सचिव का कहना है कि इस किस्म का ज्यादा रेट रहने का इतिहास बन गया है |

जबकि पहले यह गेहूं ₹4000 के आसपास बिकता था मंडी में शरबती गेहूं की कम आवक होने के कारण के भाव में और आगे भी तेजी देखने को मिल सकती है | मंडी मे इस गेहूं की आवक कम रहती है क्योंकि किसान इसकी एडवांस खेती करके मंडियों से बाहर ही इसे अच्छे दामों में बेच देते हैं |

शरबती गेहूं की कीमत देखे तो यह 4000 रुपए के आसपास बिकता है यदि किसान एडवांस बुकिंग में इसकी खेती करता है तो ₹4000 से लेकर 5500  के बीच प्रति क्विंटल भाव मिल जाते हैं |

कम उत्पादन क्षमता और कम बोया जाने वाला शरबती गेहूं किसानों और बाजार मे छाया हुआ है |

शरबती गेहूं की खेती कैसे होती है ?

अन्य प्रकार के गेहूं की तरह ही शरबती गेहूं की खेती की जाती है | शरबती गेहूं को नवंबर के प्रारंभ में ही बो दिया जाता है | इस गेहूं की खेती में किसान को विशेष तौर पर ध्यान रखना होता है कि रसायनिक खादों का प्रयोग न के बराबर करना चाहिए |

शरबती गेहूं की खेती एक प्रकार से असिंचित क्षेत्रों में की जाने वाली फसल है इसे सिंचाई की बहुत ही कम आवश्यकता होती है |यदि किसान सिंचाई करना चाहता है तो इसमें नियमित अंतराल मे तीन से चार सिंचाई कर सकता है |

यह गेहूं 5 फीट तक की ऊंचाई तक जाता है इसलिए रासायनिक खादों के प्रयोग से यह पकने की अवस्था में पूरी फसल गिर सकती है | इस किस्म मे रासायनिक खाद से बचना चाहिए नहीं तो किसान को भारी नुकसान हो सकता है |

शरबती-गेहूं-भाव-2021

देश मे शरबती गेहूं का उत्पादन ?

किसान खेती में अच्छे देखरेख के हिसाब से खेती करे तो इसका उत्पादन 8 से 12 क्विंटल प्रति बीघा यानि 55-60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर के हिसाब से उत्पादन ले सकता है |

अन्य गेहूं की तुलना में शरबती गेहूं का उत्पादन थोड़ा सा कम होता है क्योंकि यह पूर्ण रुप से जैविक खेती की तरह ही इसकी खेती होती है |

कृषि विशेषज्ञों और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ वीट/ गेहूं का मानना है कि मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, उतरप्रदेश का शरबती गेहूं अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप है इसलिए विदेशों में इसकी मांग है | जिसे निर्यात को फायदा मिलेगा  साथ ही इसे विदेशों में पसंद भी किया जाता है |

देश के बहुत सारे व्यापारी शरबती गेहूं को किसानों से खरीद कर शरबती गेहूं online करके अच्छे भावों मे बेच रहे है | विदेशों में पिज़्ज़ा पास्ता ब्रेड बिस्कुट की अधिक मांग होती है |

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!