पालक की खेती कैसे करें 2021 जानिए देसी पालक की व्यापारिक खेती, बीज, बाजार भाव

पालक की खेती की जानकारी | palak ki kheti kaise karen | देसी पालक की खेती | palak ki kheti | पालक की खेती का समय | पालक की खेती कैसे करें | palak ki kheti kaise hoti hai

पालक एक पत्तेदार सब्जी है जो भारतीय सब्जियों में एक अपना विशेष स्थान रखती है | पालक की खेती लगभग सभी प्रकार के किसान कर सकते हैं | पालक की खेती एक इस प्रकार की फसल है कि कम लागत में और कम समय में अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं |

पालक-की-खेती-कैसे-करें
palak ki kheti kaise karen | पालक की खेती कैसे करें | palak ki kheti

पालक के यह गुण जानकर आप भी चौंक जाएंगे क्योंकि पालक मे आयरन, विटामिन, कैल्शियम से भरपूर और लगभग 30 प्रकार के लाभदायक तत्व पाए जाते है | आइए जानते है पालक की खेती कैसे करें, देसी पालक की व्यापारिक खेती, बीज, बाजार भाव –

भिंडी की उन्नत खेती कर कमा सकते हैं अच्छा मुनाफा जानिए Bhindi ki kheti 2021

पालक की खेती कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी

इस खेती के बारे मे जानकारी लेकर किसान पालक की उन्नत खेती कर अच्छा लाभ कमा सकता है | व्यापारिक खेती के रूप मे उपजाई जाने वाली फसल 35 से 40 दिन की उत्पादन देने के लिए पूर्ण रूप से तैयार हो जाती है और लगभग 60 से 65 दिन तक इससे उत्पादन ले सकते हैं |

भिंडी की खेती से कमाई | भिंडी की खेती कैसे करें | भिंडी की अगेती खेती कैसे करें

पालक की उन्नत किस्में बीज वैरायटीया / पालक संकर बीज ?

पालक की उन्नत बीज और किसानों के बारे में बात करें तो किसान भाई अपने क्षेत्र में जलवायु और  प्रचलित किसमें का ही  प्रयोग करें | वैसे देश में पाई जाने वाली पालक की प्रमुख उन्नत किस्मे

  • ऑल ग्रीन 
  • पूसा पालक
  • पूसा हरित
  • पूसा ज्योति 
  • जोबनेर ग्रीन
  • हिसार सिलेक्शन 23
  • पन्त

पालक की खेती का समय

देश में पालक की खेती सर्दी और गर्मी दोनों ऋतु में की जाती है | देश में अधिकतर सर्दी की ऋतु में पालक की खेती ज्यादा की जाती है | क्योंकि इस समय इसको उपजाना बहुत ही आसान होता है और उत्पादन भी अच्छा मिल जाता है |

यदि किसान पहली बार इसकी खेती कर रहा है तो सर्दी के मौसम से  पालक की व्यापारिक खेती शुरू करें | और यदि किसान पहले से पालक की खेती कर चुका है तो बाजार में आजकल कई प्रकार की वैरायटी है जिससे गर्मी के मौसम में भी सिंचाई के साथ पालक की खेती करता मुनाफा कमा सकते हैं |

हल्दी की जैविक खेती कैसे करें | हल्दी की खेती से कमाई | हल्दी की किस्में

गर्मी के समय पालक की खेती करने का उत्तम समय जून-जुलाई-अगस्त माह उत्तम माना जाता है, जबकि सर्दी की फसल के लिए पालक की बुवाई अक्टूबर-नवंबर माह में पूरी कर ली जाती है |

पालक-की-खेती-कैसे-करें
palak ki kheti kaise karen | पालक की खेती कैसे करें | palak ki kheti

पालक के बीज कैसे लगाए ?

  • खेत में पालक की बुवाई करने से पहले पालक के बीजों को 8 से 10 घंटे भिगोकर रखना चाहिए |
  • बिजाई से लगभग 1-2 घंटे पहले बीज को उपचारित कर ही बुवाई करें |
  • पालक की बिजाई के लिए तैयार खेत में बीजों को एक समान बिखेर देते हैं और उसके बाद में रोटावेटर या अन्य किसी भी प्रकार के कृषि यंत्र से एक से डेढ़ इंच गहराई तक बीजों को मिट्टी में मिला देना चाहिए |

करेले की खेती किस महीने में करें | करेला की खेती | करेला लगाने की विधि | करेला की उन्नत खेती

खेत की तैयारी कैसे करें

पालक की फसल एक प्रकार से भूमि के ऊपरी परत पर फलने फूलने वाली खेती है तथा पालक की जड़े भी लगभग कम गहरी होती है | जिसमें 1-2 बार कल्टीवेटर या रोटावेटर की सहायता से जुताई करवा दें |

Palak ki kheti में गहरी जुताई की आवश्यकता नहीं होती है |

पालक खेती के लिए मिट्टी जलवायु 

पालक देश के लगभग हर क्षेत्र में कस्बों में उगाई जाने वाली फसल है दोमट मिट्टी सर्वाधिक उत्तम मानी जाती है | अत्यधिक जलभराव और बिना सिंचाई वाली बलुई मिट्टी में इसकी खेती असंभव है | गर्म और ठंडी जलवायु के अनुरूप है विशेष रूप से पालक की खेती, मौसम हल्का या ठंडा ही उत्तम माना जाता है | गर्म जलवाऊ वाले क्षेत्रों मे पालक की खेती इसके बीज और अन्य उत्पाद लेने के लिए करते है |

पालक की खेती कैसे करें | palak ki kheti kaise hoti hai

पालक की खेती करने की विधि ?

देश के किसान अपने क्षेत्रों में अलग-अलग तरीकों से प्रयोग करते हैं –

क्यारी विधि – पालक की बिजाई किसान खेत में नमीयुक्त क्यारी विधि से भी बुवाई कर सकते हैं | तैयार खेत मे क्यारिया बनाक प्रत्येक क्यारियों मे बीजों को डालकर मिट्टी मे मिलाना होता है |

छिड़काव विधि – देश के बहुत से क्षेत्रों में खेत को समतल कर बीज का छिड़काव कर उस पर हल्का 1 से 2 इंच गहरा रोटावेटर की सहायता से भी बुवाई करते हैं |

कतार से कतार विधि – पालक के इस बुआई के तरीके मे सीडर कृषि यंत्र से बिजाई की जाती है | जिस प्रकार गेहू की बिजाई होती है वैसे ही लेकिन इसमे बीज को दूरी पर बिजाई करते है |

शरबती गेहूं भाव 2021 | शरबती गेहूं की पहचान | गेहूं की सबसे अच्छी किस्म कौन सी है ?

पालक की खेती में खाद कौन सा डालें 

सबसे पहले बात करें खेत की तैयारी के समय 2-3 ट्रॉली सड़ी हुई गोबर की खाद प्रति एकड़ के हिसाब से खेत में डालें | रोटावेटर की सहायता से एक बार मिट्टी में मिला दें |

खेत की भूमि कम उपजाऊ है तो डीएपी या सिंगल सुपर फास्फोरस खाद का भी प्रयोग कर सकते हैं |

अमेरिका के किसान | अमेरिका की मुख्य फसलें | अमेरिका के गांव

पालक की खेती में सिंचाई कैसे करें

खेती में सिंचाई का प्रमुख योगदान रहता है पालक की खेती पूर्ण रूप से सिंचाई पर ही निर्भर होती है | सिंचाई जितनी अच्छी होगी उतना ही अच्छा उत्पादन होगा और देरी से फसल पकेगी |

इस खेती में लगभग 5-7 सिंचाई की जरूरत होती है और हर 10 से 15 दिन के अंतराल पर पालक की कटाई कर सकते है |

 यदि किसान सर्दी के ऋतु में पालक की खेती करें तो दो सिंचाई में फसल का जीवन चक्र पूरा हो जाता है |

  • पहली सिंचाई जब पालक का पौधा1-2 इंची तक की ऊंचाई या दो या चार पत्ते आ जाए |
  • शुरुआत की दो से तीन सिंचाई हल्की सिंचाई करनी है |
  • तीन सिंचाई हो जाने के बाद सप्ताह मे 3 बार सिंचाई करते रहना चाहिए | 

प्रति एकड पालक बीज की मात्रा ?

बात करें खेत में पालक के बीज की कितनी मात्रा लगेगी तो इसके लिए औसतन प्रति एकड़ पालक बीच की मात्रा 13 से 15 किलोग्राम लागत आती है |

गेंदा फूल की खेती कैसे करे | हजारा गेंदा फूल की खेती | गेंदा फूल का रेट 2021

हरे पालक की खेती से कमाई ?

किसी भी प्रकार की फसल हो खेत के उत्पादन, बाजार के भाव, फसल की देखरेख, लागत-बीज-भाव आदि पर निर्भर करती है | वैसे औषतन देखा जाए तो प्रति एकड़ पालक की उपज 10-12 टन उत्पादन हो जाता है | और हरे पालक का मंडी भाव 10 रुपये से लेकर 50 रुपये किलो के बीच रहता है | पालक से कमाई देखे तो 15 र * 10 टन = 1,50,000 रुपये |

पालक-की-खेती-कैसे-करें
palak ki kheti kaise karen | पालक की खेती कैसे करें | palak ki kheti

हरे पालक का मंडी भाव 2021

फरवरी 2021 में नवीन सब्जी भाव में हरे पालक का भाव ₹10 प्रति किलो से लेकर ₹30 प्रति किलो के बीच में बिक रहा है | साथ ही पिछले तीन-चार माह से मांग भी समान बनी हुई है | मंडी अधिकारियों के अनुसार पालक के भाव में तेजी की संभावनाएं बताई जा रही है जैसे-जैसे गर्मी का समय आ रहा है पलक के भाव मजबूती मिल सकती है |

तो आपने इसमे जाना की पालक की खेती कैसे करें आशा करते है जानकारी अच्छी लगी – धन्यवाद |

सब्जी की खेती से कमाई | सब्जियों की अगेती खेती | सब्जी की खेती

पालक की बुवाई कब करें?

गर्मी के समय पालक की खेती करने का उत्तम समय जून-जुलाई-अगस्त माह उत्तम माना जाता है, जबकि सर्दी की फसल के लिए पालक की बुवाई अक्टूबर-नवंबर माह में पूरी कर ली जाती है |

पालक कैसे उगाई जाती है?

खेत में पालक की बुवाई करने से पहले पालक के बीजों को 8 से 10 घंटे भिगोकर रखना चाहिए |
बिजाई से लगभग 1-2 घंटे पहले बीज को उपचारित कर ही बुवाई करें |
पालक की बिजाई के लिए तैयार खेत में बीजों को एक समान बिखेर देते हैं और उसके बाद में रोटावेटर या अन्य किसी भी प्रकार के कृषि यंत्र से एक से डेढ़ इंच गहराई तक बीजों को मिट्टी में मिला देना चाहिए |

पालक कितने दिन में तैयार होता है?

व्यापारिक खेती के रूप मे उपजाई जाने वाली फसल 35 से 40 दिन की उत्पादन देने के लिए पूर्ण रूप से तैयार हो जाती है और लगभग 60 से 65 दिन तक इससे उत्पादन ले सकते हैं |

गर्मी में पालक की खेती कैसे करें?

गर्मी के समय पालक की खेती करने का उत्तम समय जून-जुलाई-अगस्त माह उत्तम माना जाता है | बाजार में आजकल कई प्रकार की वैरायटी है जिससे गर्मी के मौसम में भी सिंचाई के साथ पालक की खेती करता मुनाफा कमा सकते हैं |

पालक कौन से महीने में बोई जाती है?

गर्मी के समय पालक की खेती करने का उत्तम समय जून-जुलाई-अगस्त माह उत्तम माना जाता है, जबकि सर्दी की फसल के लिए पालक की बुवाई अक्टूबर-नवंबर माह में पूरी कर ली जाती है |

Leave a Comment