[ पॉलीहाउस में टमाटर की खेती 2022 ] ग्रीनहाउस में टमाटर की खेती की सम्पूर्ण जानकारी – polyhouse me tamatar ki kheti

Last Updated on February 15, 2022 by [email protected]

पॉलीहाउस में टमाटर की खेती | पॉलीहाउस में टमाटर | ग्रीनहाउस में टमाटर की खेती | पॉली हाउस में करें टमाटर की खेती। Tomato farming in poly house | polyhouse me tamatar ki kheti

देश का किसान नेटहॉउस में टमाटर की खेती करके “आम के आम और गुठलियों के दाम” वाली कहावत को सही साबित कर सकता है | आज के समय कई प्रगतिशील किसान पॉलीहाउस की नई तकनीक को अपनाकर कई प्रकार की फसलो की अच्छी पैदावार ले रहा है | यही सही विधि और देखरेख के साथ पॉलीहाउस में टमाटर की खेती करता है तो 1000 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक की पैदावार ले सकता है – polyhouse me tamatar ki kheti करते समय कई बातो का ध्यान और ज्ञान होना चाहिए जिनके बारे में आज वस्तृत में चर्चा करेंगे –

पॉलीहाउस-में-टमाटर-की-खेती

पॉलीहाउस में टमाटर की फसल का विशेष ध्‍यान –

  • टमाटर की उन्नत और उच्च प्रजातियों का चयन, जिसमे लगातार बढवार वाली किस्मों का चयन प्राथमिकता  |
  • सबसे पहले किसान को बिना मिटटी में टमाटर नर्सरी में पौध तैयार करें |
  • टमाटर की नर्सरी में पौध 20-25 दिन की हो जाये तब पौली हॉउस में ट्रांसप्लांट कर देनी चाहिए |
  • ड्रिप सिचाई व्यवस्था इसमें सबसे उत्तम मानी जाती है |
  • सामान्य तरीको में पौधो से पौधो की दुरी 50 सेंटी मीटर और लाइन से लाइन की दुरी भी लगभग 50 सेंटीमीटर की रखनी चाहिए |
  • किसान टमाटर के पौधो से एक या फिर दो तना ले सकते है जिनको मजबूत धागे या रस्सी की मदद से उपर की आवर चढाते रहना है |
  • पौधो की कटाई छटाई करते रहना चाहिए जिससे टमाटर का आकार समान मिलता रहे, बाजार में अच्छा भाव लगेगा |
  • ग्रीन हॉउस में टमाटर की पौध पर सफेद मक्खी और फल मक्खी का ज्यादा खतरा  रहता है, जिनके कर्ण फसल में कई रोग पैदा होने के चांस बन जाते है |
  •  सफेद मक्खी और फल मक्खी के बचाव के लिए एक एकड़ में 5-10 जगह पिली ट्रेप या पेपर पर अरंडी का तेल लगाकर रख देना चाहिए |
  • जड़ गलन और अन्य किसी समस्या से बचने के लिए जल्द विशेषज्ञ की सलाह लेकर उपचार कर लेना चाहिए |
polyhouse-me-tamatar-ki-kheti

पॉलीहाउस में टमाटर की प्रमुख किस्मे ?

सालभर तनो में फुटाव वाली ऐसी कई  नई किस्मे है जिनका किसान चुनाव कर सकते है –

एक वर्ष तक चलने वाली टमाटर की प्रजातीया
पूसा – रक्षित
पूसा टमाटर सरंक्षित -1
चेरी टमाटर
हिमषिखर
नवीन
सरताज प्लस
देव
हिमसोना
एनएस-1218
अभिलाष
अविनाष-2
शहंषाह
अर्का
रक्षक
अर्का सम्राट

टमाटर की पौध नर्सरी कैसे तैयार करें ?

सबसे जरूरी बात उन्नत और अधिक समय तक चलने वाली किस्म बीज का ही चुनाव करें | उन्नत किस्म के बीज पैकिट से ही उपचारित किये हुए आते है जिनको दोबारा उपचारित करने की जरूत नही होती है | 

बिना मिटटी में बीज लगाने का सामग्री तैयार करते है जिसमे तिन प्रमुख रूप से कोकोपीट, प्रलाइट, वर्मीकुलईट को 3:1:1 अनुपात के हिसाब से काम में लेते है | प्लांटट्रेशिट की मदद से बीज को लगा देते है और छायादार स्थान का चयन कर पानी देकर देखरेख करते है | इस प्रकार से तैयार नर्सरी में कोई किसी प्रकार की समस्या नही आती है, जब पौध 20-25 दिन की हो जाये तो पोली हॉउस में पौध लगा देनी चाहिए |

धान रोपाई मशीन की पूरी जानकारी

भूमि / मिटटी की तैयारी कैसे करें ?

खेत की तैयारी के लिए कोई विशेष बात की जरूरत नही होती है, पोली हॉउस के अंदर की भूमि को मिनी रोटावेटर या कल्टीवेटर की मदद से 2 से 3 अच्छी जुताई करा लेनी चाहिए | ध्यान रखे पहली जुताई के समय पक्की हुई गोबर खाद का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करना चाहिए | गीली या कम पक्की हुई गोबर खाद बाद में फंगस जैसी बीमारियों को पैदा कर देती है | अच्छी तरह से जुताई के बाद भूमि को समतल कर उच्चित नाप में बेड और मिल्चिंग तैयार कर लेना चाहिए |

ग्रीनहाउस-में-टमाटर-की-खेती

पॉलीहाउस में टमाटर की सिंचाई कैसे करें ?

सबसे पहली सिंचाई पौध लगाने के पहले दिन ड्रिप सिस्टम की मदद से कर देनी है | इसमें सिंचाई की बहुत कम आवश्यकता पद्धति है जिसमे किसान फसल में सिचाई की मांग के अनुसार पानी दें चाहिए |
फसल में तापमान और नमी को बनाये रखने के लिए फोगर सिचाई भी कर सकते है |

[ पॉली हाउस क्या है 2022 ]

Tomato cultivation in the polyhouse के फायदे ?

  1. टमाटर के पौधो को रोग और किट लगने की आशंका कम रही है |
  2. सर्दी और ग्रीष्म ऋतू जैसे मौषम की मार भी नही झ्हेलनी पड़ती है |
  3. इस तकनीक से टमाटर का गुणवतायुक्त और अच्छा उत्पादन हासिल क्र सकते है |
  4. बाजार में सालभर माग की पूर्ति कर एक अच्छी कमाई का जरिया बना सकते है |
  5. सिचाई की कम मांग होने के कारण फसलो के लिए अधिक पानी पर निर्भर नही होना पड़ेगा और कम सिचाई पानी उपलब्धता वाले क्षेत्रों में भी अच्छी खेती कर सकते है |

पॉलीहाउस में टमाटर की खेती से कमाई ?

कमाई की बात करें तो यह किसान की मेहनत और फसल की बाजार कीमत पर निर्भर करता है | वैसे किसान पोली हॉउस से लगातार टमाटर की उपज लेता है जिससे बिना सीजन के समय अच्छे दाम से मुनाफा कमा मिल जाता है | इस खेती की तकनीक से किसान सामान्य खेती के मुकाबले 3 से 4 गुना ज्यादा मुनाफा ले सकता है |

यह भी पढ़े –

ग्रीन हाउस पर सब्सिडी आवेदन A-to-Z

पशु चारा काटने की मशीन कीमत, सब्सिडी – chara katne ki machine

सुपर सीडर मशीन की कीमत – Top super seeder

कल्टीवेटर के प्रकार और कीमत ट्रैक्टर पावर कल्टीवेटर

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!