[ लाल भिंडी की खेती 2022 ] जानिए बीज, पैदावार, फायदे, सावधानियाँ-देखभाल, लाल भिंडी का बीज कहां मिलेगा – Lal Bhindi Ki Kheti

Last Updated on September 18, 2022 by [email protected]

लाल भिंडी की खेती कैसे होती है | lal bhindi ki kheti | लाल भिंडी कितने रुपए किलो है | Red Ladyfinger Cultivation | भिंडी के लाल होने का क्या कारण है

वर्तमान समय में दिन-प्रति-दिन सब्जियों का भाव बढ़ता ही चला जा रहा है, इसका मुख्य कारण है सब्जियों की आवक मंडियों मे कम होना | यदि किसान के पास सिंचाई व्यवस्था है, तो खरीफ-रबी अनाज फसलों की तुलना मे कई गुना लाभ सब्जियों की खेती में हो सकता है | आज हम बात करेंगे अच्छी आय और नगद मुनाफा देने वाली भिंडी की एक और उन्नत किस्म के बारे में –

लाल-भिंडी-की-खेती-कैसे-होती-है

इस सुंदर लेख में आप जानेंगे की लाल भिंडी की खेती कैसे करे? लाल भिंडी के बीज की जानकारी? इस खेती को करने से क्या फायदे है? लाल भिंडी का बीज कहा से मिलेगा? लाल भिंडी की खेती करने का नया तरीका क्या है? इस सभी निम्न विषय पर आज हम बारी-बारी से चर्चा करने वाले है –

लाल भिंडी की खेती कैसे होती है?

इस किस्म की खेती साल मे दो बार कर सकते है – खरीफ सीजन और रबी सीजन दोनो सीजन में सामान्य खेती की तुलना मे अच्छी देखभाल के साथ कर सकते है | किसान भाई उन्नत खेती के तरीकों के अनुसार – खेत की तैयारी, सिंचाई, दवा-छिड़काव, खरपतवार निवारण, निराई-गुड़ाई, कीट-रोंग आदि के प्रति सचेत रहकर अच्छा मुनाफा कमा सकते है |

बीज बुवाई का समय ?

रबी सीजन की बुआई का उतम समय फरवरी से मार्च तक के बीच कर सकते है | खरीफ के मौषम मे बुवाई 20 जून से जुलाई के महीने मे कर सकते है |

लाल भिंडी की प्रमुख विशेषताए ?

  • एक साल में दो बार इस किस्म की बुवाई कर सकते है|
  • अच्छी देखरेख के साथ पैदावार क्षमता को बढ़ा सकते है |
  • सामान्य तरीकों से लाल भिंडी 12-15 क्विंटल/एकड़ उपज देती है, उन्नत तरीकों मे अधिकतम 20-22 क्विंटल/एकड़ उपज ले सकते है |
  • बाजार मे डिमांड ओर भाव अधिक होने के कारण अच्छी आय का जरिया बन जाता है |
  • सामन्य भिंडी के मुकाबले लाल भिंडी में एंटी ऑक्सीडेंट, कैल्शियम, आयरन और कई पोषण तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते है|

लाल भिंडी का बीज वैराइटी ?

लाल भिंडी की दो उन्नत किस्में सर्वोधिक उगाई जाती है-

  1. आजाद कृष्ण
  2. काशी लालिमा

बुवाई कैसें करें ?

बुआई के लिए बीज को 8 से 10 घंटे तक पानी में भिगो कर रखे, पानी से निकालकर एक घण्टे के लिए सूखे कपड़े पर छायादार स्थान पर सूखने के लिए रख दे | अब लाइन से 25 से 30 सेंटीमीटर पौधे की दूरी पर बीज सीड़ ड्रिल मशीन या कम रकबे हेतु हाथ से लगा सकते है |

फसल की सिंचाई और निराई-गुड़ाई कैसें करें ?

सिंचाई के लिए खरीफ सीजन मे ज्यादा सिंचाई की जरूरत नहीं होती है, वर्षा अंतराल के समय, समय पर सिंचाई करें | शीत ऋतु में सिंचाई 10-15 दिनों के अंतराल मे कर सकते है | तेज धूप या ग्रीष्म समय मे 4-5 दिनों के अंतराल में सिंचाई कर देनी चाहिए|

निराई-गुड़ाई के लिए फसल 20 दिन की हो जाए तब मिट्टी की गुड़ाई करें | फूल-फल आने तक हर 25 मे अनावश्यक चारा, खरपतवार को हटाते रहे |

फसल मे प्रमुख देखरेख और सावधानियाँ ?

फसल मे ज्यादा रसायनिक दवाइयों का प्रयोग न करें | हर 2-3 दिनों मे पूरी फसल का कीट-रोग, फसल प्रभाव आदि की देखरेख करें | समय-समय पर खरपतवार का निवारण करते रहे |

लाल भिंडी के फायदे ओर बाजार भाव क्या मिलते है ?

वर्तमान समय मे देश मे बढ़ती लाल भिंडी की मांग को पूरा कर सकते है | सामान्य सब्जी खेती की तुलना मे अधिक फायदेमंद साबित हो रही है |

लाल भिंडी का भाव बाजार में 100 रुपए से 450 रु/ किलोग्राम के हिसाब से चल रहे है |

लाल भिंडी की खेती को लेकर किसानों मे जागरूकता ?

प्रिय किसान भाईयो हाल ही मे बाजार मे गुणकारी लाल भिंडी की मांग अच्छी बनी हुई है, खेती का रकबा कम और बिना जागरूक किसान के कारण मंडी/बाजार मे लाल भिंडी की मांग की पूर्ति नहीं हो पा रही है | आपने लाल भिंडी की खेती सक्सेस स्टोरी भी बहुत सी सुनी होगी की एक किसान ने लाल भिंडी की खेती करके लाखो रुपए कमा लिए, ऐसा आपके लिए भी संभव है |

लाल भिंडी का बीज कहां मिलता है ?

किसान इसके लिए आपने नजदीकी बीज भण्डार, ऑनलाइन ऑर्डर के माध्यम से आसानी से खरीद सकते है|

लाल भिंडी का बीज कितने रुपए किलो है ?

शुरुआत मे इस किस्म का बीज आपको थोड़ा महंगा पड़ेगा, जो 2100 से लेकर 2400 रु/किलोग्राम के आस-पास है|

भिंडी के लाल होने का क्या कारण है?

कृषि विशेषज्ञों के अनुसार भिंडी के लाल होना एंथोसायनिन नाम के पिगमेंट के कारण होता है |

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!