[ तेजपत्ता की खेती कैसे करे 2022 ] जानिए तेजपत्ता का भाव | Bay Leaf Farming in Hindi 

तेजपत्ता की खेती | तेजपत्ता की खेती कैसे करते हैं, खेती करने का तरीका | तेजपत्ता का भाव | तेजपत्ता का पौधा कहाँ मिलेगा – तेजपत्ता की खेती कहाँ होती है | तेजपत्ता कैसे लगाएं –

तेजपत्ता-की-खेती-कैसे-करे
Tejpatta farming in hindi

तेजपत्ता की सुखी पत्तिया भारत से लेकर विदेशी खान-पान रसोईघरो में स्वाद बढ़ाने के लिए सर्वोधिक काम में लिया जाता है | आयुर्वेदिक तेल एव उपचारों में तेज पत्ता की बढ़ती बाजार मांग के कारण किसान और सरकार की और से भी इस खेती को बढ़ावा मिल रहा है | तेज पत्ता के पेड़ लगाना हो या खेती/बागवानी करना बहुत आसान/ सस्ता है| आइए जानते हैं, तेज पत्ता की खेती से जुडी सम्पूर्ण जानकारी के बारे में –

तेजपत्ता का खेती में सरकार का योगदान –

देश का राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, किसानो को इसकी बागवानी या खेती करने पर कुल लागत का 30% सब्सिडी अनुदान देती है|

तेजपत्ता की खेती कैसे करते हैं – सम्पूर्ण जानकारी ?

तेज पत्ता की खेती मुख्यतः मसाला फसल के रूप में जाती है | पौधो को लगाने के 5 से 6 वर्ष बाद कटाई/ तुडाई के लिए तैयार हो जाता है | पूर्ण रूप से तैयार पत्ते गहरे हरें रंग के हो जाने पर तुडाई कर लेते है | इसी प्रकार तेजपत्ते की खेती को सफल बनाने के लिए पौधो की देखरेख, सिंचाई, निराई-गुड़ाई, रोग-किट, बाजार आदि के प्रति सावधान रहकर मुनाफा कमाया जा सकता है –

तेज पत्ता क्या है ?

  • यह औषधीय गुणों से भरपूर एक सदाहरित वृक्ष है, जिसकी ऊंचाई 20 से लेकर 30 फिट तक में पाई जाती है |
  • तनो पर छाल गहरे भूरे रंग की थोड़ी खुरदरी, स्वाद में फीकी, सुगन्धित तथा बाहरी भाग हल्का गुलाबी होता है|
  • तेज पत्ता 10 से 12.5 CM लम्बा, विविध चौड़ाई, चमकीला होता है|
  • तेज पत्ता के वृक्ष पर फूल हल्के पीले और नए पत्ते गुलाबी रंग के आते है|
Bay-Leaf-Farming-in-Hindi

तेजपत्ता का पौधा कहाँ मिलेगा?

खेत या बागवानी के रूप में काम में लेने के किसान की सही विकल्प औषधीय पादप बोर्डया संस्थान से लेना उत्तम माना जाता है | दुसरे विकल्पों में विश्वासपूर्ण नर्सरी या बीज लगाकर पौधे लेने की व्यवस्था कर सकते है |

तेज पत्ता मे पोषक तत्व ?

तेज पत्ता में कई गुणकारी पोषक तत्व मौजूद होते है –

100 GM तेज पत्ता में पोषक तत्व –– 5.44 GM पानी
– प्रोटीन 7.61 GM
– फैट 8.36 GM
– 74.97 GM कार्बोहाइड्रेट
– 313 कैलोरी
– 43 MG आयरन
– 834 MG कैल्शियम
– 46.5 ML विटामिन सी
– 26.3 फाइबर की मात्रा होती है|

तेज पत्ता हेतु जलवायु एवं मिट्टी?

बंजर और जलभराव वाली जगहों को छोड़कर सभी प्रकार की भूमि/मिट्टी में इसकी खेती की जा सकती है| तेजपत्ता की खेती शीत जलवायु के आलावा सभी प्रकार की जलवायु परिस्थति में अच्छे से फलता-फूलता है |

तेजपत्ता का पेड़ कैसे लगाएं ?

तेज पत्ता के पौधों कैसे लगाए – नर्सरी में तैयार पौध को लगाना सबसे अच्छा माना जाता है| पौधों की रोपाई के लिए 1 सप्ताह पहले 2 फिट गहरे गड्डे तैयार कर लेना चाहिए | पौधे से पौधे के बीच 15 से 15 फिट रखना है| पौधों को लगते समय गड्ढे मे भरी जाने वाली मिट्टी मे जैविक खाद ओर पोषक तत्वों की पूर्ति कर गड्ढों को समतल भर देना है|

तेज पत्ता का भाव ?

तेज पत्ता के पौधे लगाने के 3 से 5 साल बाद से मसालों के लिए पत्तों की तुड़ाई शुरू का सकते है| तेजपत्ता मसालों का मंडी भाव 1800 से लेकर अधिकतम 3000 तक के भावों मे बिक जाता है|

तेजपत्ता-का-खेती

तेज पत्ता की बाजार मे मांग ?

तेज पत्ता का इस्तेमाल मुख्यतः स्वादिष्ट भोजन के व्यंजन के अलावा औषधीय तेल-दवा के रुप में किया जाता है| भारत तेजपत्ते की घरेलू पूर्ति के अलावा विदेशों मे भी निर्यात करता है, जो कृषि आय मे अपना अच्छा योगदान दे रहा है|

तेज पत्ता के पेड़ों में सिंचाई ?

इस पेड़ को एक बार लगाने के बाद ज्यादा सिंचाई की आवश्यकता नहीं होती है –

गर्मियों मे सप्ताह में एक बार अच्छी सिंचाई करें|
बरसात के मौसम में सिचाई की कमी दिखने पर ही करें|
सर्दियों मे विशेष पाले से बचाने की कोशिस करें – जरूरत दिखने पर हल्की सिंचाई|

तेजपत्ता की खेती कहाँ होती है?

व्यवसाय के रूप मे इस औषधीय पेड़ की खेती मुख्यतः भारत, मध्य व उत्तरी अमेरिका, इटली, रूस, फ्रांस आदि कमाई के उधेशय से खेती कार रहे हैं|

भारत में ज्यादातर इसकी बागवानी खेती मेघालय, अरूणाचल प्रदेश व नागालैण्ड, उत्तर प्रदेश, बिहार, केरल, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक के अलावा उतरी-पूर्वी भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में किया जाता है|

तेज पत्ता की कटाई-छटाई ?

पौधा कटाई के लिए लगाने के 3 साल बाद तैयार हो जाता है, जिसकी गहरी हरी पत्तियों को काटकर छाया में सुखा देना है| कई किसान औषधीय तेल निकालने के उधेशय से खेती करते है, तो आसवन यंत्र का प्रयोग कर सकते हैं|

तेजपत्ता का पेड़ कितना बड़ा होता है ?

मसालों के रूप में काम में आने वाला तेजपत्ता के पेड़ 25 से 30 फिट की अधिकतम उचाई में पाए जाते है |

तेजपत्ता का बीज कहां मिलेगा ?

किसान बीज के लिए बागवानी बोर्ड या कृषि विज्ञानं केंद्र, ऑनलाइन रूप से खरीद सकते है | जो किसान पहले से इसकी खेती कार रहे है उनसे बज के लिए संपर्क कर सकते है, लेकिन ध्यान रखे बीजों को उपचारित करके पौधे तैयार करनी चाहिए|

तेजपत्ता का खेती में मुनाफा ?

सही बाजार का मिलना और पेड़ो पर पत्तियों का अच्छे से आना, पत्तियों की सही तुडाई मुनाफे को अच्छा या कम बनाती है, सामान्य थोक भावों के हिसाब तेजपत्ता की सुखी पत्तिया एक पौधे से करीब 3000 से 5000 रुपए तक प्रति वर्ष तथा इसी तरह के 25 पौधों से 75,000 से 1,25,000 रुपए प्रति वर्ष कमाई की जा सकती है|

यह भी पढ़े –

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!