[ श्रीराम सरसों बीज 2023 ] जानिए किसान की पहली पसंद बना श्रीराम सरसों का बीज – Shriram 1666 Hybrid Mustard

Last Updated on December 25, 2022 by krishi sahara

यदि जागरूक किसान सरसों की खेती से अच्छा लाभ कमाना चाहते है, तो इसके लिए एक अच्छे बीज जैसे श्रीराम सरसों बीज और उपजाऊ भूमि का चयन करना होगा, सरसों की खेती रबी सीजन की मुनाफेदार फसलों की गिनती में आती है, इसकी खेती करने का तरीका बहुत ही आसान है सरसो की समय पर बुआई करना लाभकारी माना जाता है |

श्रीराम-सरसों-बीज

इस लेख में आपको श्रीराम कंपनी का प्रमाणित सरसों बीज की जानकारी विस्तार से मिलेगी जैसे – श्रीराम 1666 हाइब्रिड मस्टर्ड क्या है? बाजार में श्रीराम सरसों बीज का भाव क्या है? सरसों बीज कितने प्रकार के होते है? किसान भाई श्रीराम सरसो के बीज की बुवाई को पसंद कर रहे है?

श्रीराम सरसों बीज प्रोडक्ट क्या है ?

श्रीराम सरसों के बीज प्रमाणित ओर संकर किस्म के होते है, इस ब्रांड का सरसों बीज उपज-उत्पादन मे अच्छे परिमाण देने के कारण किसान की पहली पसंद बना हुआ है श्रीराम सरसों का उत्पादन मध्य भारत और उत्तर भारत में अधिक होता है, श्रीराम सरसों फसल को मध्य अक्टूबर से बुआई अच्छी मानी जाती है |

श्रीराम हाइब्रिड सरसों बीज की प्रमुख किस्में ?

पिछले कुछ सालों से लगातार बेहतर पैदावार के परिणामों मे, श्रीराम हाइब्रिड सरसों बीज की प्रमुख किस्मों मे तीन प्रमुख है –

  1. श्रीराम 1666
  2. श्रीराम MUST-38
  3. श्रीराम रानी सरसों बीज
श्रीराम-1666-हाइब्रिड-सरसों

श्रीराम 1666 हाइब्रिड सरसों ?

बाजार मे इस वैराइटी की भी हर साल सीजन मे अच्छी मांग रहती है, इस वैराइटी का सरसों का पौधे शुरुआत से लंबी शाखाओं मे फैलता है |

  • इस किस्म की बुवाई का उत्तम समय अक्टुबर से नवंबर का महिना |
  • किस्म की फसल पकाव अवधि 125 से लेकर 130 दिन की होती है |
  • श्रीराम 1666 हाइब्रिड सरसों बीज बुवाई के समय ध्यान दे – सीड ड्रिलिंग/छिड़काव विधि से करें |
  • इसकी उपज मे अधिक तेल प्रतिशत मात्रा के कारण बाजार मे भाव भी अच्छा मिलता है |
  • अधिक जानकारी के लिए उत्पाद विवरण के दिशा-निर्देशों को देखें |

श्रीराम MUST-38 – Shriram Seeds ?

मस्ट-38 वैराइटी भी अपने उपज पैदावार विशेषता के चलते जानी जाती है इसके पौधे की ऊंचाई अधिक होती है |

  • शाखाओ ओर फलियों की अधिक संख्या मे आवक होती है, जो उत्पादन बढ़ाने मे भरपूर योगदान देती है |
  • फसल पकने मे 120 से 125 दिनों का समय लग जाता है |
  • Shriram Seeds MUST-38 – की प्रमुख विशेषता है की पाले और सफेद जंग के प्रति कफ सहनशील किस्म है |
  • खड़ी फसल के आकर्षक पौधे, बीज मे उच्च तेल% मात्रा और अधिक उपज के लिए जानी जाती है |
  • सरसों उत्पादन में श्रीराम मस्ट-38 किस्म की जानकारी
श्रीराम-MUST-38-shriram-Seeds

श्रीराम रानी सरसों बीज/shriram rani mustard –

श्रीराम रानी मस्टर्ड के बीज अधिक ओर घनी शाखाऔ वाली किस्म है |

  • फसल पकने मे 130 से 135 दिन का समय लगता है |
  • इस किस्म की बुवाई का उचित समय 15 अक्टूबर से 30 नवंबर तक अच्छा माना गया है |
  • उच्च उपज क्षमता का सरसों किस्म, बीज दानों मे 40% तेल की मात्रा, मोटा आकार का दाना |
  • अधिक जानकारी के लिए पैकिंग का दिशा-निर्देशों का पालन करें |
  • अधिक पढ़े – श्रीराम रानी सरसों बीज
श्रीराम-रानी-सरसों-बीज

श्रीराम 1666 हाइब्रिड सरसों का रेट ?

श्रीराम 1666 हाइब्रिड सरसों का वर्तमान रेट 700 से 900 रुपए प्रति किलोग्राम बीज का भाव है |

नोट – आपके क्षेत्र में इसके रेट में थोड़ा-बहुत परिवर्तन आ सकता है।

श्रीराम सरसों बीज कहाँ मिलेगा ?

यदि आप सरसो की खेती मे श्रीराम ब्रांड का यह बीज आपको आसानी से कृषि बाजार में मिल जाएगा | यदि किसी कारण आपको यह बीज बाजार में नही मिले तो आप इसे ऑनलाइन के मध्यम से भी खरीद सकते हो/मंगवा सकते है, 2 से 3 दिन के अंदर आपका बीज आपके घर आ जाएगा |

सबसे अच्छा सरसों का बीज कौन सा है?

सफल किसानों की माने तो पिछले कुछ सालों से पुसा सरसों- 25, 28, 31, पायनियर सरसों बीज, श्री राम, बायर, राज विजय सरसों-2, पूसा बोल्ड, नरेंद्र आदि सबसे अच्छा सरसों का बीज साबित हुए है |

सरसों का बीज भाव क्या चल रहा है ?

देश की कई मंडियों में सरसो का भाव 6600 रुपए प्रति कुंटल के आस-पास चल रहा है, बीज बुवाई के चलते 400-500रु/क्विंटल पर तेजी देखी गई है |

सामान्य तौर पर सरसों की पैदावार प्रति हेक्टेयर ?

सामान्य परिस्थति के अनुसार औसतन सरसों की पैदावार 20 से 25 क्विंटल/हेक्टेयर रही है जिस क्षेत्र में अच्छी सिंचाई पानी और बीज रहा है, वहा सामान्य तौर पर सरसों की पैदावार 28 से 35 क्विंटल प्रति हेक्टेयर रही है |

यह भी जरूर पढ़े..

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!