[ टॉप 10 हाइब्रिड गाजर का बीज 2023 ] सबसे अच्छा गाजर का बीज कौन सा है, गाजर के बीज का भाव, पैदावार – Hybrid Carrot Seeds

Last Updated on November 10, 2022 by krishi sahara

गाजर बीज किस्म का चुनाव | हाइब्रिड गाजर का बीज 2023 | गाजर के बीज के भाव/carrot seeds price in india | गाजर के बीज उगने का समय | गाजर के बीज कितने रुपए किलो है?

यदि आप रबी सीजन में सब्जियों की खेती से नगद और अच्छा आय कमाना चाहते है, तो गाजर की खेती कर सकते है | जागरूक और प्रगतिशील किसान को गाजर के उन्नत बीज का चुनाव करना बहुत जरूरी है | ध्यान रखें, गाजर की ऐसी किस्मों का चयन करें, जो पैदावार में अधिक हो –

हाइब्रिड-गाजर-का-बीज

इस लेख में आपको टॉप 10 हाइब्रिड गाजर बीज की जानकारी मिलेगी, साथ में गाजर बीज किस्म का चुनाव? गाजर के बीज का भाव? गाजर की औसत पैदावार? गाजर के बीज उगने में कितना समय आदि –

गाजर बीज किस्म का चुनाव क्यों जरूरी है ?

कोई भी फसल हो सफल और मुनाफेदार खेती के लिए, अच्छी क्वालिटी के बीज का चयन बहुत जरूरी है| गाजर खेती में आपको अपने क्षेत्र की जलवायु /मिट्टी के अनुसार बीज का चुनाव करना चाहिए | गाजर की अच्छी किस्म के बीज की खरीद आप अपनी नजदीकी बीज की दुकान, कृषि भंडार या ऑनलाइन माध्यम से भी आप ऑर्डर कर सकते है|

टॉप 10 हाइब्रिड गाजर का बीज 2023 –

नीचे दिए गए टॉप उन्नत गाजर के बीज वैरायटियाँ है, जो लगातार काफी समय से अपने उपज उत्पादन में बेहतर परिमाणों मे बनी हुई है –

पूसा आंसिता गाजर सीड्स –

इस किस्म की गाजर का रंग हल्का सा काला होता है और इसकी बुआई सितंबर से अक्टूबर के बीच होती है| यदि पूसा आंसिता गाजर सीड्स की गाजर के उत्पादन की बात करें, तो 250 कुंटल प्रति हेक्टर होता है| इस किस्म के गाजर की फसल को तैयार होने में 90 से 100 दिनों का समय लगता है|

पूसा रुधिर गाजर –

इस किस्म की गाजर गहरे लाल रंग की होती है, लंबाई में सामान्य से ज्यादा होती है| इस किस्म की बुआई 15 सितंबर से अक्टूबर के बीच होती है| इसकी पैदावार 270 से 300 कुंटल प्रति हेक्टेयर तक लि जा सकती है | पूसा रुधिर गाजर की बुवाई का सही समय पर करते है तो यह गाजर की किस्म दिसंबर तक तैयार हो जाती है|

पूसा केसर गाजर –

पूसा केसर एक देशी किस्म का बीज है, जिसके पत्ते छोटे होते है | पूसा केसर गाजर का उत्पादन 250 कुंटल प्रति हेक्टर तक लिया जा सकता है | सही समय पर बुआई, सिंचाई और खरपतवार की जाए तो, पैदावार क्षमता को बढ़ाया जा सकता है |

पूसा मेघाली –

यह किसम भी किसान भाइयों की काफी भरोसेमंद किस्म है | इस किस्म की उपज को तैयार होने में 100 से 110 दिनों का समय लगता है | पूसा मेघाली गाजर सीड्स की उपज की बात करें तो, 250 से 350 कुंटल प्रति हेक्टर तक होती है|

पूसा जमदग्नि गाजर सीड्स –

इस वेरायटी को जल्दी पकने वाली किस्मों की श्रेणी में जाना जाता है | पूरे देशभर मे बोई जा सकने वाली किस्म है, जिसकी पैदावार भी काफी अच्छी मानी गई है | इसके स्वाद और आकर्षक रंग रूप के कारण बाजार में बिक्री के लिए काफी अच्छी किस्म है |

गाजर बीज हिसार रसीली –

इस किस्म की गाजर का रंग गहरा लाल होता है और इसकी लंबाई अधिक होती है| इस किस्म की गाजर की मांग बाजार में अधिक है, स्वाद और दिखने में चमकदार होने के चलते किसान भाई पहली पसंद के रूप में खेती करते है | गाजर बीज हिसार रसीली के उत्पादन की बात करें तो, 200 कुंटल प्रति के आस-पास ले सकते है |

हिसार माधुरी –

इस किस्म के गाजर की लंबाई 25-30 सेंटीमीटर तक होती है, इसकी पैदावार 170 कुंटल प्रति हेक्टेयर तक ली जा सकती है| हल ही में विकसित नई किस्म है जो गुणकारी और रोग-कीट के प्रति काफी सहनशील किस्म होने के कारण, किसानों के बीच बहुत लोकप्रिय बन रही है|

हिसार गेरिक –

इस किस्म की गाजर का रंग हल्का-सा नारंगी, स्वाद और आकर्षक रूप के कारण बाजार में बनी हुई है | इस किस्म को अच्छी उत्पादन क्षमता के लिए जाना जाता है, 280 से लेकर 300 कुंटल प्रति हेक्टेयर तक देखि जा सकती है|

सनग्रो सुपर रेड गाजर बीज –

इस बीज की फसल की गाजर लंबाई में छोटी और एक सामान होती है | सनग्रो सुपर रेड गाजर की बुआई का समय खरीफ और रबी सीजन मे उपयुक्त मानी जाती है | हाइब्रिड बीज होने के कारण पैदावार क्षमता भी काफी अच्छी देखि जाती है |

चेंटनी और नैन्टिस-

ये दोनों किस्मे ही 80 से 90 दिन में तैयार हो जाती है, सामान्य पैदावार क्षमता के कारण किसान भाई बाजार बिक्री यानि अधिक उत्पादन हेतु बुवाई नहीं करते है | इन दोनों ही किस्मो की पैदावार 120 से लेकर 150 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज देखि जाती है |

गाजर के बीज के भाव/carrot seeds price in india ?

आज के समय बाजार में गाजर की कई उन्नत किस्म के बीज उपलब्ध है, जो 500 रु से लेकर 3000 रु प्रति किलोग्राम के सीड्स पैकिंग के रूप मे मिलते है | घर पर तैयार किये गए बीजों की तुलना में हाइब्रिड बीज काफी रोग-कीट सहनशील ओर इनकी उपज पैदावार क्षमता भी काफी अच्छी रहती है | – अधिक जानकारी गाजर के बीज का रेट

Carrot Seeds price 1kg –

1 किलो गाजर के बीज आपको 500 रुपए से अधिक का पड़ेगा पर फिर भी यह आपके ऊपर निर्भर करता है की आप किस किस्म की गाजर का बीज खरीद/चुनाव कर रहे है|

गाजर की औसत पैदावार ?

किसी भी फसल की पैदावार क्षमता कई कारकों पर निर्भर करती है, यदि किसान भाई गाजर के उन्नत बीजों का चयन करते है तो, औसत पैदावार 200 से 300 कुंटल प्रति हेक्टेयर उपज ली जा सकती है |

गाजर की फसल कितने दिन में तैयार हो जाती है?

गाजर की फसल को तैयार होने में लगभग 90 से 100 दिनों तक का समय लगता है| जल्दी पकने वाली उन्नत किस्म की गाजर 65 से 70 दिन में पककर तैयार हो जाती है |

गाजर के बीज उगने में कितना समय लगता है?

गाजर के बीज को उगने में कम से कम 7 से 10 दिनों का समय लगता है, यदि आपके खेत में नमी और अच्छा खाद, हल्की बीज बुवाई हो तो बीज कम समय भी उग सकते है|

गाजर की अच्छी पैदावार के उपाय और देखरेख सावधानियां?

  • गाजर की अच्छी पैदावार के लिए आपको खाद, सिंचाई और खरपतवार पर विशेष ध्यान देना है|
  • गाजर की अच्छी पैदावार के लिए आपके खेत की मिट्टी का पीएच (pH) मान 6.5 तक होना चाहिए|
  • गाजर की खेती आपको भारी, कठौर मिट्टी में नही करना चाहिए क्योंकि कठौर मिट्टी में पौधे का अच्छी तरह से विकास नही होता है|
  • बीज अंकुरण के समय पौधे को कीटो से बचाने के किए आपको पौधे पर नीम का तेल या उपयुक्त कीटनाशक का छिड़काव करें |

गाजर के बीज कितने रुपए किलो है?

गाजर का बीज आपको बाजार में आसान से मिल जाएगा, यह बीज आपको कम से कम 500 रुपए प्रति किलो के आस-पास भाव में मिलते है |

सबसे अच्छा गाजर का बीज कौन सा है?

आज के समय बाजार में गाजर के कई प्रमुख उन्नत और हाइब्रिड बीज उपलब्ध है, जैसे की हिसार रसीली, हिसार माधुरी, हिसार गेरिक, पूसा मेघाली, पूसा केशर आदि है| आपको अपने क्षेत्र की जलवायु/मिट्टी/ सिंचाई पानी के अनुसार आपको बीज का चयन कर लेना है|

यह भी जरूर पढ़ें…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!