[ कपास का भाव 2022 ] जानिए प्रमुख मंडियों मे – आज का कपास का भाव क्या है | kapas ka bhav

Last Updated on September 27, 2022 by [email protected]

इन दिनों देश के प्रमुख कपास मंडियों में कपास का भाव अच्छे मिल रहे है, इस बार बाजार में मिल रही अच्छी कीमतों से देश मे कपास बुवाई का रकबा 7% बढ़कर 125.70 लाख हेक्टेयर हो गया है | बाजार में कपास की नई फसल की आवक अच्छी देखि जा रही है, कपास के भाव में रोज 300-400 रुपये की घटक बढ़त देखने को मिल रही है | बता दें कि पिछले दिनों की तुलना में भावों में कुछ तेजी देखने को मिली है, तो आइए जानते हैं आज देश की प्रमुख मंडियों में कपास के भाव क्या रहने वाले हैं-

कपास-का-भाव

27 सितम्बर 2022 कपास का भाव –

प्रमुख कपास मंडियाभाव / क्विंटल रुपये मे
हरियाणा की रोहतक मंडी9800/-
कपास के भाव एलेनाबाद 9680/-
कपास मंडी भाव जामनगर9,960/-
कपास का भाव भावनगर9,880/-
फतेहाबाद – हरियाणा10,020/-
कपास मंडी भाव आंध्रप्रदेश 10,550 के आस-पास
कपास का भाव हिसार मंडी
कपास बाजार भाव महाराष्ट्र10,450/-
कपास का भाव गोंडल मंडी10,430/-
कपास भाव गुजरात अमरेली 9,490/-
कपास का भाव भेसान मंडी10,040/-
हरियाणा की मेहम कपास मंडी
कावी कपास 5320/-
रतिया मध्यम कपास
कपास मंडी भाव राजकोट9,150/-
कपास का भाव धोराजी मंडी8970/-
महुवा – स्टेशन रोड गुजरात मंडी भाव 9,710/-
हरियाणा की सिरसा मंडी – मध्यम कपास

वैश्विक स्तर पर कपास उत्पादन के आकड़े ?

इस बार चीन में लॉकडाउन और अमेरिका में मंदी के चलते कॉटन की वैश्विक सप्‍लाई में गिरावट आएगी | अधिक बारिश के कारण अमेरिका, ब्राजील और पाकिस्तान में कॉटन की फसल को भारी नुकसान 3-4 मिलियन मीट्रिक टन कपास कम होने का अनुमान है | इस बीच भारतीय कपास की देश ओर विदेश मे डिमांड की अच्छी संभावना बन रही है |

देश में कपास का प्रतिवर्ष उत्पादन ?

भारत, कपास उत्पादक मे दूसरे नंबर पर आता है | इस साल देश मे 125.70 लाख हेक्टेयर रकबे मे कपास की बुवाई हुई है, प्रति वर्ष लगभग 6 मिलियन टन कपास का उत्पादन होता है, जो विश्व कपास का लगभग 23% है | भाव अच्छे होने के चलते कपास बुवाई का रकबा 7 फीसदी बढ़ा है |

कपास का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2022 ?

वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान केंद्र सरकार ने फ़सली वर्ष 2022 के लिए खरीफ की फसलों मे कपास का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी बढाया है –
अब कपास मध्यम रेसा 5740 रुपये से बढ़कर 6080 रुपये और कपास लंबा 6030 रुपये प्रति क्विटल से बढ़कर 6380 रुपये प्रति क्विटल का भाव से पंजीकृत किसानों सरकारी भाव से खरीद जाएगा |

वर्तमान मे नरमा की खेती मे सावधानियाँ –

  • इस बार खरीफ की फसल मे कपास में गुलाबी सुंडी का प्रकोप रहा था |
  • गुलाबी सूंडी के प्रकोप से पिछले साल कपास की फसल में काफी नुकसान पहुंचाया था, जिसका सीधा असर उत्पादन पर पड़ा और प्रति एकड़ हजारों रुपए का नुकसान भुगतना पड़ा |
  • खरीफ के मौषम की यह एक महत्वपूर्ण नकदी फसल मानी जाती है|
  • यदि फसल मे रोग-समस्या आती है तो कृषि विज्ञानिकों की सलाह व कीटनाशकों उचित प्रयोग करना चाहिए |

कपास भाव ताजा समाचार ?

देश के नरमा से जुड़े आज का ताजा समाचार देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें- आज के ताजा नरमा समाचार

यह भी जरुर पढ़े…

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!