भावांतर भरपाई योजना क्या है 2022 : Haryana Bhavantar Bharpai Yojana Portal

Last Updated on August 15, 2022 by [email protected]

Haryana Bhavantar Bharpai Yojana 2022 | भावांतर भरपाई योजना कब शुरू हुई | भावांतर भरपाई योजना हरियाणा

हाल ही में हरियाणा सरकार ने प्रदेश के सभी सब्जी उत्पादक किसानों के नुकसान की समुचित भरपाई इस योजना के तहत की जाएगी | सरकार इस योजना मे सब्जी और बागवानी की लगभग 19 फसलों को शामिल किया है | बाजार में उपज के तय भाव एव खरीदी भाव के अंतर के नुकसान की किसानों को सरकार द्वारा दिया जाएगा | हरियाणा राज्य के किसानों के लिए भावांतर भरपाई योजना कृषि कवच के रूप में काम कर रही है –

bhavantar-bhugtan-yojana-haryana

Bhavantar Bhugtan Yojana से अब बागवानी और सब्जी उत्पादक किसानों के सुनिश्चित हुए मंडी दाम | उचित दाम योजना में शामिल की गई लगभग 19 फसलें |

सरकार के इस फैसले पर किसान को सब्जियों और फलों के लगाने पर घाटा नहीं होगा | सरकार का मानना है कि किसान इस भाव से ज्यादा भाव में भी अपनी फसल को बेच सकता है, लेकिन यदि खरीदार उसको तय रेट से कम में खरीदता है तो भरपाई का Bhavantar Bhugtan Yojana मे इसका प्रावधान है |

भावांतर-भरपाई-योजना

भावांतर योजना क्या है ?

भावांतर भरपाई योजना का मकसद भी यही है कि यदि किसान को उसकी फसल का उचित भाव ना मिले तो सरकार उचित मूल्य पर किसान का उत्पाद खरीदने के लिए तैयार ताकि किसान को नुकसान ना हो |

हरियाणा सरकार ने भावांतर भरपाई योजना के तहत 19 फसलों के दाम की गारंटी दे दी है | अगर मंडी में बेचने पर किसानों को तय रेट से कम दाम मिले और जो भी अंतर होगा उसकी भरपाई की जाएगी |

भावांतर योजना में किस फसल का कितना रेट तय हुआ ?

भावांतर फसल का नामभावांतर तय किमत ₹/ क्विंटल
टमाटर500
आलू500
प्याज650
फूलगोभी750
किन्नू11,00
अमरूद1300
आम1950
बैंगन500
भिंडी1050
मटर100
हरी मिर्च950
लौकी450
करेला1350
शिमला मिर्च900
मुली450
पत्ता गोभी650
गाजर700
हल्दी1400
लहसुन2300

इसका फायदा लेने के लिए राज्य के किसानों को मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीयन करवाना होगा ताकि सरकार को पता चले कि आपने कौन सी फसल उगाई है |

फसल का नामपंजीकरण अवधिसत्यापन अवधिसत्यापन इत्यादि के विरुद्ध अपील अवधिबिक्री अवधि
आरंभ तिथिसमापन तिथितकतकदौरान
आलू15 सितंबर31 अक्तूबर30 नवम्बर15 दिसम्बर1 दिसम्बर – 31 मार्च
प्याज15 दिसम्बर15 फरवरी15 मार्च25 मार्च1 अप्रैल – 31 मई
टमाटर15 दिसम्बर15 फरवरी15 मार्च25 मार्च1 अप्रैल- 15 जून
मटर1 अक्तूबर30 नवम्बर15 दिसम्बर31 दिसम्बर
गाजर1 अक्तूबर30 नवम्बर15 दिसम्बर31 दिसम्बर1 दिसम्बर – 28 फ़रवरी
फूलगोभी15 सितंबर31 अक्तूबर30 नवम्बर15 दिसम्बर1 दिसम्बर – 31 मार्च
शिमला मिर्च10 फरवरी15 मार्च31 मार्च15 अप्रैल15 अप्रैल – 30 जून
बैंगन10 फरवरी15 मार्च31 मार्च15 अप्रैल15 अप्रैल – 30 जून
भिन्डी1 फरवरी31 मार्च31 मार्च15 अप्रैल15 अप्रैल – 30 जून
मिर्च1 फरवरी31 मार्च31 मार्च15 अप्रैल15 अप्रैल – 30 जून
लौकी1 फरवरी31 मार्च31 मार्च15 अप्रैल15 अप्रैल – 30 जून
करेला1 फरवरी31 मार्च31 मार्च15 अप्रैल15 अप्रैल – 30 जून
मूली1 अक्तूबर30 नवम्बर30 नवम्बर15 दिसम्बर
पत्ता गोभी1 अक्तूबर30 नवम्बर30 नवम्बर15 दिसम्बर1 दिसम्बर – 31 मार्च
लहसुन1 अक्तूबर30 नवम्बर30 नवम्बर15 दिसम्बर1 अप्रैल – 15 मई
हल्दी 1 जून31 जुलाई15 अगस्त15 अगस्त1 अप्रैल – 30 अप्रैल
अमरूद15 अप्रैल15 मई15 जून30 जून1 जुलाई – 31 अगस्त
आम1 मार्च15 मई15 मई31 मई15 जून – 31 अगस्त
किन्नू1 सितंबर30 नवम्बर15 दिसम्बर31 दिसम्बर1 दिसम्बर – 28 फरवरी

भावांतर भरपाई योजना का लाभ कैसे लेवे ?

घाटे से बचना है तो सबसे पहले किसान को जिला ई दिशा केंद्र या मार्केटिंग बोर्ड या बागवानी बागवानी विभाग पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवा लें |

इस योजना के तहत सब्जियों की 15 फसलें ली गई है तथा फलों की 3 किस्में तथा मसालों मे 1 फसल की भावांतर भरपाई करने का फैसला लिया है |

भावांतर योजना के आकड़े ?

इस योजना के तहत हरियाणा राज्य के लगभग 4187 किसानों को 10 करोड 12लाख रुपए की राशि दी जा चुकी है |

भावांतर योजना मे शामिल 19 फसलों के नाम ?

यह प्रमुख फसलें हैं जिन पर सरकार भरपाई भत्ता देती है –

  • आलू
  • प्याज
  • फूल गोभी
  • टमाटर
  • किन्नू
  • आम
  • अमरूद
  • गाजर
  • मूली
  • मटर
  • शिमला मिर्च
  • बैंगन
  • हरी मिर्च
  • लहसुन
  • लौकी
  • करेला
  • बंद गोभी
  • अदरक
  • हल्दी

प्याज भावांतर की राशि कब तक डाली जाएगी?

पात्र किसान की प्रोत्साहन राशि किसान के आधार कार्ड से लिंक हुए बैंक खाते में बिक्री के 15 दिन के अन्दर जारी कर दी जाती है |

भावांतर भरपाई योजना हरियाणा कब शुरू हुई?

योजना की शुरुआत 2018 में की गई थी जो वर्तमान में भी चालू है और किसान इसका फायदा ले रहे हैं | किसानों का मानना है कि bhavantar bhugtan yojana haryana से वह काफी खुश है तथा किसान को बाजार भाव गिरने पर उनकी लाज बनी रहती है |

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!